होम /न्यूज /राष्ट्र /साढ़े 4 साल का बच्चा लामा रिनपोचे का अवतार घोषित, माता-पिता की खुशी का ठिकाना नहीं

साढ़े 4 साल का बच्चा लामा रिनपोचे का अवतार घोषित, माता-पिता की खुशी का ठिकाना नहीं

Shimla: शिमला में स्वर्गीय लामा ताकलुंग सेतरुंग रिनपोचे के अवतार का जोरदार स्वागत किया गया. (Photo-ANI)

Shimla: शिमला में स्वर्गीय लामा ताकलुंग सेतरुंग रिनपोचे के अवतार का जोरदार स्वागत किया गया. (Photo-ANI)

Interesting News: तिब्बत की निंग्मा सेक्ट संस्था ने स्वर्गीय लामा ताकलुंग सेतरुंग रिनपोचे के अवतार को चुन लिया है. संस् ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

शिमला के साढ़े चार साल के बच्चे को चुना गया लामा का अवतार
बच्चा 28 नवंबर से शुरू करेगा धार्मिक जीवन की शुरुआत
माता-पिता को नहीं हो रहा यकीन, कहा- हमारे लिए गर्व की बात

शिमला. हिमाचल प्रदेश से बड़ी खबर है. तिब्बत की निंग्मा सेक्ट संस्था ने हिमाचल प्रदेश के एक बच्चे को लामा रिनपोचे का अवतार बताया है. निंग्मा सेक्ट संस्था में लामा के अवतार की पहचान करने की परंपरा है. इसी के तहत इसने लाहौल-स्पीति के साढ़े चार साल के बच्चे की पहचान स्वर्गीय लामा ताकलुंग सेतरुंग रिनपोचे के अवतार के रूप में की. बताया जाता है कि यह बच्चा लाहौल स्पीति के सुदूर रंगरिक गांव का है.

दूसरी ओर, इस खबर को सुनने के बाद बच्चे के माता-पिता और रिश्तेदार फूले नहीं समा रहे. उन्हें खुशी है कि उन्होंने ऐसे बच्चे को जन्म दिया जो तिब्बत के सबसे वरिष्ठ बौद्ध लामा का अवतार है. यह बच्चाा 28 नवंबर से अपने धार्मिक जीवन की शुरुआत करेगा. उसकी धार्मिक शिक्षा शमिला के पंठाघाटी में स्थित दोर्जीडाक मठ से शुरू होगी.

तिब्बती बौद्धों ने किया जोरदार स्वागत
रविवार को इस बच्चे का तिब्बती बौद्धों और दोर्जीडाक के दूसरे बौद्ध शिष्यों ने जोरदार स्वागत किया.
इस मौके पर बच्चे की मां केसलांग डोल्मा ने कहा, न तो हमे इस बात की जानकारी थी और न ही हम ऐसी किसी घटना के लिए तैयार थे. करीब एक साल पहले दोर्जीडाक मठ के कुछ लोग हमारे पास आए थे. उसके बाद वे दलाई लामा और फिर शाक्य त्रिचेन रिनपोचे के पास गए. उसके बाद उन्होंने चर्चा और धार्मिक संस्कारों के बाद बच्चे को अवतार के रूप में चुना.

दर्द और खुशी का पल है यह- मां
ॉउन्होंने कहा, एक मां होने के नाते मुजझे उसका बिछड़ना दर्दभरा है, लेकिन दूसरे ही पल यह सोचकर खुशी होती है इतने बड़े बौद्ध संत ने हमारे घर जन्म लिया. मेरी दो संताने हैं. यह छोटा है, जबकि उससे बड़ी एक बेटी है. मुझे खुशी है कि वह लोगों को रास्ता दिखाएगा और सभी की भलाई के लिए काम करेगा. मुझे अपने आप में बहुत अलग महसूस हो रहा है और गर्व हो रहा है कि मैं इस बच्चे को जन्म दिया.

हम भी उसके शिष्य होंगे- पिता
दूसरी ओर, बच्चे के पिता सोनम चोपेल ने कहा कि यह बेहद खुशी का पल है. क्योंकि मैं लामा के अवतार का पिता हूं. यह बात मैंने कभी सपने में भी नहीं सोची थी. भविष्य में मेरा बेटा प्रमुख लामा होगा और लोगों को राह दिखाएगा. हमभी उसके शिष्ट होंगे. उसके अवतार के रूप में चयनित होने के बाद हमें उसका स्कूल जाना बंद करना होगा.

Tags: National News, Shimla News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें