सुरक्षा परिषद में भारत का दावा और मजबूत, फ्रांस ने किया समर्थन

सुरक्षा परिषद में भारत का दावा और मजबूत, फ्रांस ने किया समर्थन
फ्रांस ने सुरक्षा परिषद में भारत व जी-4 देशों की स्थायी सदस्यता के दावे का समर्थन किया (फाइल फोटो)

भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने एक ट्वीट में कहा, "फ्रांस प्रस्तावित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की स्थायी सदस्यता के लिए भारत और जी-4 के प्रयासों का पूरा समर्थन करता है.’

  • भाषा
  • Last Updated: September 3, 2020, 12:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फ्रांस (France) ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) की स्थायी सदस्यता के लिए भारत और अन्य जी-4 देशों के प्रयासों का जोरदार समर्थन किया. संयुक्त राष्ट्र में भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि राजदूत के नागराज नायडू ने सोमवार को महासभा के 74वें सत्र के अध्यक्ष तिजानी मोहम्मद बांदे को एक पत्र लिखा था. फ्रांस ने उस पत्र के बाद अपना समर्थन व्यक्त किया.

नागराज नायडू ने पत्र में कहा कि सुरक्षा परिषद में सुधार पर अंतर सरकारी वार्ता को कुछ देशों ने बंधक बना रखा है और वे इसका इस्तेमाल खुद को छिपाने के लिए ‘‘सुविधाजनक परदे’’ के रूप में कर रहे हैं क्योंकि ये देश संयुक्त राष्ट्र की सर्वाधिक शक्तिशाली इकाई में कोई परिवर्तन नहीं देखना चाहते. भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने एक ट्वीट में कहा, "फ्रांस प्रस्तावित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की स्थायी सदस्यता के लिए भारत और जी-4 के प्रयासों का पूरा समर्थन करता है.’

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार की प्रक्रिया को तेज करने के लिए भारत और अन्य जी 4 देशों ब्राजील, जर्मनी और जापान के आह्वान संबंधी एक मीडिया रिपोर्ट को भी टैग किया. भारत एक जनवरी 2021 को दो साल के लिए सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य बनेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज