फ्रांसीसी वायुसेना का विमान कल वेंटीलेटर और जांच किट लेकर पहुंचेगा भारत

फ्रांसीसी वायुसेना का विमान कल वेंटीलेटर और जांच किट लेकर पहुंचेगा भारत
राष्ट्रपति एमैन्युल मैंक्रो ने हाल ही में भारत को तकनीकी विशेषज्ञता के साथ ही चिकित्सा उपकरण देने की घोषणा की थी (सांकेतिक फोटो)

फ्रांसीसी दूतावास (French embassy) ने कहा कि चिकित्सा सहायता पैकेज (Medical aid package) के तहत फ्रांस (France) भारत को कई वेंटीलेटर दे रहा है. ओसिरिस वेंटीलेटर खासकर आपात स्थिति में मरीज को एक अस्पताल (Hospital) से दूसरे अस्तपाल में ले जाने में उपयोगी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के खिलाफ लड़ाई में फ्रांस (France) की ओर से सहायता के तहत फ्रांसीसी वायुसेना (French Air Force) का एक विमान मंगलवार को वेंटीलेटर (Ventilator), जांच किट और अन्य चिकित्सा उपकरण लेकर भारत पहुंचेगा. यहां फ्रांसीसी दूतावास (French embassy) ने यह जानकारी दी. दूतावास के एक बयान के अनुसार राष्ट्रपति एमैन्युल मैंक्रो (President Emmanuel Macron) ने हाल ही में भारत को तकनीकी विशेषज्ञता के साथ ही चिकित्सा उपकरण (medical devices) देने की घोषणा की थी.

फ्रांसीसी दूतावास (French embassy) ने कहा कि चिकित्सा सहायता पैकेज (Medical aid package) के तहत फ्रांस (France) भारत को 50 ओरिसिस-3 वेंटीलेटर और बीपैप प्रविधि वाले 70 युवेल 830 वेंटीलेटर दे रहा है. ओसिरिस वेंटीलेटर (Osiris ventilator) खासकर आपात स्थिति में मरीज को एक अस्पताल (Hospital) से दूसरे अस्तपाल में ले जाने में उपयोगी है.

फ्रांस के राजदूत पालम वायुसेना स्टेशन पर इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी को ये चीजें सौंपेगे
फ्रांसीसी दूतावास ने कहा कि फ्रांस भारत को 50000 सेरोलोजिकल आईजीजी/ आईजीएम किट और नाक एवं गले से नमूने लेने वाले 50000 उपकरण एवं चिकित्सा परिवहन की सुविधा भी देगा. फ्रांसीसी दूतावास ने कहा कि सैन्य साधनों से अंतर-अस्पताल परिवहन पर एक विशेषज्ञ मिशन भी भेजा जा रहा है.
दूतावास ने कहा कि भारत में फ्रांस के राजदूत एमैन्युल लेनैन पालम वायुसेना स्टेशन पर इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी के महासचिव आर के जैन को ये चीजें (चिकित्सा उपकरण) सौंपेगे.



पांच राफेल लड़ाकू विमान भी फ्रांस से भारत के लिये रवाना
वहीं राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप के रूप में पांच विमान सोमवार को फ्रांस से भारत के लिये रवाना हो गए हैं. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. इन विमानों के बुधवार को अंबाला वायुसेना स्टेशन पहुंचने की उम्मीद है. भारत ने वायुसेना के लिये 36 राफेल विमान खरीदने के लिये चार साल पहले फ्रांस के साथ 59 हजार करोड़ रुपये का करार किया था.

यह भी पढ़ें: France से India के लिए उड़े Rafale विमान, China संग विवाद के बीच बढ़ेगी ताकत

फ्रांस के बंदरगाह शहर बोर्डेऑस्क में वायुसेना अड्डे से रवाना हुए ये विमान लगभग सात हजार किलोमीटर का सफर तय करके बुधवार को अंबाला वासुसेना अड्डे पर पहुंचेंगे. इससे पहले ये केवल संयुक्त अरब अमीरात में रुकेंगे. वायुसेना के बेड़े में राफेल के शामिल होने से उसकी युद्ध क्षमता में महत्वपूर्ण वृद्धि होने की उम्मीद है. भारत को यह लड़ाकू विमान ऐसे समय में मिल रहे हैं, जब उसका पूर्वी लद्दाख में सीमा के मुद्दे पर चीन के साथ गतिरोध चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading