Covid-19 के कारण बर्बाद हुई 30 करोड़ लीटर वाइन, अब बचाएगी लोगों की जान

Covid-19 के कारण बर्बाद हुई 30 करोड़ लीटर वाइन, अब बचाएगी लोगों की जान
(सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना वायरस (Coronavirus) और लॉकडाउन (Lockdown) के कारण बार या शराब की दुकानें बंद करनी पड़ीं. अब वाइन का नया सीजन आ रहा है. इससे पिछला स्टाक रखने की समस्या हो गई है. अकेले फ्रांस में 30 करोड़ लीटर वाइन डिस्टिलाइज करनी पड़ेगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) की जब तक कोई दवा ईजाद नहीं हो जाती, तब तक सोशल डिस्टेंसिग ही बचाव का सर्वश्रेष्ठ तरीका है. पूरी दुनिया इस बात को मान रही है और इसी कारण तकरीबन हर देश में लॉकडाउन (Lockdown) की स्थिति रही. इस कारण जहां दुनियाभर में कामधंधे चौपट हो गए. कई चीजों का उत्पादन रुक गया, तो कई चीजें मॉलगोदाम में सड़ने लगीं. इन्हीं चीजों में शराब भी शामिल है. सोशल डिस्टेंसिंग के कारण दुनियाभर में बार और रेस्तरां बंद हो गए. फ्रांस (France) में इस कारण करीब 30 करोड़ लीटर वाइन बर्बाद हो गई है.

इंग्लैंड के अखबार द गार्डियन के मुताबिक फ्रांस समेत पूरे यूरोप में वाइन ना बिकने से इसे बनाने वाली कंपनियों को भारी नुकसान हुआ है. अब वाइन का नया सीजन आ रहा है. यानी अब वाइन की नई खेप तैयार की जाएगी. इससे पिछला स्टाक रखने की समस्या खड़ी हो गई है. अकेले फ्रांस में 30 करोड़ लीटर वाइन को डिस्टिलाइज करना पड़ेगा. यानी, अब इन्हें किसी और रूप में इस्तेमाल करना होगा, ताकि गोदाम में नई वाइन के लिए जगह बनाई जा सके.

यह भी पढ़ें: भारत की 60 स्क्वायर किमी जमीन पर कब्जा कर चुका है चीन, राहुल ने शेयर किया लेख



अखबार के मुताबिक यह समस्या दो वजहों से हुई. पहली तो लॉकडाउन, जिसमें बार या शराब की दुकानें बंद करनी पड़ीं. इस कारण लोग चाहकर भी इन्हें खरीद नहीं सके. दूसरी, अमेरिका ने वाइन के आयात पर 25% टैरिफ लगा दिया. इससे वहां भी इसकी मांग व खपत कम हो गई.
 



EMBED CODE 2



अब फ्रांस में 33 डिस्टलरीज को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे देश में 20 करोड़ लीटर वाइन जमा करें, जो अनबिकी रह गईं. इस वाइन से अब एथेनॉल या हैंड जेल बनाया जाएगा, जो सैनिटाइजर के रूप में इस्तेमाल होगा. यानी, जो वाइन कोविड-19 के कारण नहीं बिक सकी, अब उसी से सैनिटाजर बनाया जाएगा. इस तरह वही वाइन लोगों को अब दूसरे फॉर्म में कोविड-19 के संक्रमण से बचाएगी. 10 करोड़ लीटर वाइन के बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है. लेकिन यह तय है कि इसे भी किसी ना किसी फॉर्मेट में इस्तेमाल करना पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: वॉशिंगटन पोस्ट ने शेयर की जबलपुर की ये तस्वीर, अब दुनिया भर में है इसकी चर्चा

वाइन के व्यापारियों का कहना है कि इससे उन्हें काफी नुकसान होगा. यह स्थिति सिर्फ फ्रांस नहीं, बल्कि इटली और स्पेन जैसे कई देशों में है. इस कारण यूरोपियन यूनियन और इन देशों ने इन व्यापारियों की मदद के लिए योजना बनाई है. इसके तहत इन व्यापारियों को 100 लीटर वाइन पर 78 यूरो (करीब 6670 रुपए) की मदद की जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading