20th Year of NaMo: नरेंद्र मोदी के नेतृ्त्व का 20वां साल, बीजेपी ने गिनाए 20 बड़े काम

नरेंद्र मोदी के राज्य और केंद्र सरकार में प्रमुख की भूमिका में आज 20 साल (20thYearOfNaMo) हो चुके हैं.  (फाइल फोटो)
नरेंद्र मोदी के राज्य और केंद्र सरकार में प्रमुख की भूमिका में आज 20 साल (20thYearOfNaMo) हो चुके हैं. (फाइल फोटो)

#20thYearOfNaMo: नरेंद्र मोदी ने 20 सालों के अपने सफर में कई बड़े फैसले लिए, जिस कारण उन्हें इतिहास में जाना जाएगा. चाहे वह अनुच्छेद 370 हो या फिर राम मंदिर के भूमि पूजन में शामिल होकर श्रीराम को दंडवत प्रणाम करना.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 12:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सियासत के शीर्ष पर पहुंचने वाले उन चुनिंदा राजनेताओं में से हैं, जिन्होंने अपना सफर एक कार्यकर्ता के रूप में शुरू किया, वहां से मुख्यमंत्री बने और फिर प्रधानमंत्री तक के शीर्ष पद पर आसीन हुए. नरेंद्र मोदी ने राज्य और केंद्र सरकार में प्रमुख की भूमिका में आज 20वें साल (20thYearOfNaMo) में प्रवेश किया. आज ही के दिन साल 2001 में मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री चुने गए थे. तब से लेकर आज तक मोदी के नाम का मैजिक पहले गुजरात में दिखाई पड़ता था, जो अब पूरे देश में दिखाई देने लगा है.

साल 2014 लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री का चेहरा बनाकर पूरे देश में पेश किया गया. इसी बदौलत भाजपा ने प्रचंड बहुमत हासिल करते हुए कई रिकॉर्ड्स तोड़ डाले. नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब भी उनकी आवाज और उनका मैजिक पूरे देश में दिखाई पड़ता था. ऐसे में जब वो प्रधानमंत्री पद के लिए चुने गए तो भाजपा को देश की जनता ने भरपूर वोट दिया और बहुमत देकर लोकसभा में बिठाया. बीजेपी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर पर सीएम से पीएम बने मोदी के 20 साल के कार्यकाल के 20 काम बताए हैं. आइए जानते हैं इन 20 सालों में नरेंद्र मोदी ने कौन से किए 20 बड़े काम:-

साल 2001: 20 साल पहले 7 अक्टूबर 2001 को नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली.
साल 2002: नरेंद्र मोदी ने 2002 गुजरात विधानसभा चुनाव की अगुआई की. उनके नेतृत्व में गुजरात बीजेपी के इतिहास में रिकॉर्ड सीटें आयीं.साल 2003: इस साल नरेंद्र मोदी ने पहले 'वाइब्रेंट गुजरात' ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया. समिट के दौरान 14 बिलियन डॉलर के 76 MoU साइन किये गये.साल 2004: नरेंद्र मोदी ने गुजरात में बेटियों की पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए कन्या केलवणी योजना और शाला प्रवेशोत्सव प्रोग्राम की शुरुआत की.साल 2005: राज्य में शिशु लिंग अनुपात में कमी को रोकने के लिए बेटी बचाओ अभियान लॉन्च किया. अभियान के बाद राज्य में बेटियों की जन्म दर में वृद्धि देखी गई.साल 2006: गुजरातवासियों को ज्योतिग्राम योजना का तोहफा दिया.साल 2007: नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने तीसरा विधानसभा चुनाव जीता. मोदी गुजरात के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले CM बने.साल 2008: गुजरात की धरती पर टाटा नैनो का किया स्वागत, कार मैन्युफैक्चरिंग का गुजरात हब बना.साल 2009: प्रदेश के आम लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए ई-ग्राम, विश्व-ग्राम योजना का उद्घाटन किया.साल 2010: गुजरात के 50 साल के इतिहास को अगले 1,000 साल के लिए सहेजने के लिए 90 kg के टाइम कैप्सूल में किया सील.साल 2011: 17 सितंबर 2011 को सद्भावना मिशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें लाखों लोगों ने हिस्सा लिया.साल 2012: 26 दिसंबर 2012 को नरेंद्र मोदी चौथी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बनेसाल 2013: 13 सितंबर 2013 को बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक में नरेंद्र मोदी को पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने का निर्णय लिया गया.साल 2014: 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी ने भारत के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली.साल 2015: पीएम मोदी की पहल पर 21 जून 2015 को दुनिया भर में पहला अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया.साल 2016: भ्रष्टाचार, काले धन और जाली मुद्रा से लड़ने के लिए नोटबंदी की गई. डिजिटल लेन-देन के लिए BHIM/UPI लॉन्च किया गया.साल 2017: एक देश एक कर प्रणाली, GST लागू किया गया.साल 2018: दुनिया की सबसे उंची प्रतिमा स्टैचू ऑफ़ यूनिटी राष्ट्र को समर्पित की गयी.साल 2019: नरेंद्र मोदी प्रचंड जीत के साथ लगातार दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री बने.साल 2020: सही समय पर पूर्ण लॉकडाउन लगाकर कोरोना को महामारी बनने से रोका. जन-जन तक बीमारी से लड़ने की जानकारी पहुंचाई और लोगों को जागरूक किया.




मोदी सरकार ने एक-एक कर कई बड़े फैसले लिए, जिस कारण उन्हें इतिहास में जाना जाएगा. चाहे वह अनुच्छेद 370 हो या फिर राम मंदिर के भूमि पूजन में शामिल होकर श्रीराम को दंडवत प्रणाम करना. नरेंद्र मोदी को इतिहास में एक सफल प्रधानमंत्री और एक बेहतरीन राजनेता के रूप में भी जाना जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज