अपना शहर चुनें

States

भगोड़े मेहुल चोकसी ने पंजाब एंड सिंध बैंक को 44 करोड़ का लगाया चूना: रिपोर्ट

पंजाब एंड सिंध बैंक ने मेहुल चोकसी को डिफाल्ट घोषित किया
पंजाब एंड सिंध बैंक ने मेहुल चोकसी को डिफाल्ट घोषित किया

मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) ने पंजाब और सिंध बैंक (PSB) का 44 करोड़ रुपए का लोन को वापस लौटाने में विफल रहा है. बैंक ने एक नोटिस जारी करके मोहुल चौकसी को विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2019, 3:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब और सिंध बैंक (PSB) ने शनिवार को एक रिपोर्ट जारी किया है. इस रिपोर्ट ने अनुसार भगोड़ा आरोपी मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) ने बैंक का 44 करोड़ रुपए का लोन को वापस लौटाने में विफल रहा है. बैंक ने एक नोटिस जारी करके मोहुल चौकसी को विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है. साथ ही लोन को वसूलने की कार्रवाई शुरू कर दिया है.

111 वर्ष पुराने इस बैंक ने पहली बार चोकसी ने चूना लगाया है. बता दें कि मेहुल इस समय वेस्टेंडीज के एंटीगुआ और बारबाडोस की नागरिकता लेकर वहां बस गया है. एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार नई दिल्ली स्थित पीएसबी बैंक से चोकसी की स्वामित्व वाली कंपनी जेम्स लिमिटेड ने बैंक से ऋण लिया था.

31 मार्च 2018 को गैर-निष्पादित परिसंपत्ति घोषित
चोकसी की कंपनी के गारंटर कंपनी के निदेशक गुनियाल है, जो चोकसी का कानूनी उत्तराधिकारी भी है. लोन को देने में असफल रहने पर पीएसबी ने उसे 31 मार्च 2018 को गैर-निष्पादित परिसंपत्ति घोषित कर दिया. इसके कुछ दिनों बाद बताया गया कि चोकसी और उसका परिवार देश के बाहर भाग गए. पंजाब और सिंध बैंक ने ऋण की राशि वापस लौटाने में विफल रहने पर 17 सितंबर 2019 को उसे विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया.
चोकसी विभिन्न क्षेत्रों के 27 बैंकों से डिफाल्टर घोषित


इस साथ ही चोकसी विभिन्न क्षेत्रों के 27 बैंकों से डिफाल्टर घोषित हो चुका है. ये बैंक मुख्य रूप से नई दिल्ली, पंजाब और चंडीगढ़ में स्थित हैं. इसके अतिरिक्त एक लखनऊ और दो चेन्नई से भी उसके खिलाफ रिकवरी सूट दायर किया गया है. गौरतलब है कि चोकसी और उसका भतीजे नीरव मोदी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का लगभग 289 करोड़ रुपये का ऋण चुकाने में भी असफल रहे हैं.

पीएसबी तीसरा ऐसा बैंक है जिसने चोकसी को डिफाल्टर घोषित किया है. उल्लेखनीय है कि फरवरी 2018 में पंजाब नेशनल बैंक द्वारा 13,500 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी करने का खुलासा हुआ था. जिसके बाद इस मामा-भांजे की जोड़ी सुर्खियों में आए थेऔर देश के बैंकिंग उद्योग में बड़े बदलाव हुए थे.

ये भी पढ़ें:

 महाबलीपुरम के बीच पर पीएम मोदी जो कर रहे थे, उसे 'प्लॉगिंग' क्यों कहते हैं

सर क्रीक से 7 दिन में दूसरी बार 5 पाकिस्तानी बोट जब्त, एजेंसियों की उड़ी नींद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज