#Fullproof: अब10 किलो से ज्यादा समान ले जाने पर रेलवे वसूलेगा चार्ज?

सोशल मीडिया का दावा है कि ट्रेन में भारी भरकम सामान लादकर चलने के दिन अब लदने वाले हैं.

News18India
Updated: July 5, 2019, 10:25 PM IST
#Fullproof: अब10 किलो से ज्यादा समान ले जाने पर रेलवे वसूलेगा चार्ज?
indian railway
News18India
Updated: July 5, 2019, 10:25 PM IST
भारतीय रेलवे  देश की लाइफ़लाइन है. रोज़ाना करोड़ों लोग ट्रेन से सफ़र करते हैं. आप भी कभी न कभी ट्रेन से कहीं तो गये ही होंगे.लेकिन क्या ट्रेन से सफ़र करते वक़्त कभी अपने सामान का वज़न तौलने की ज़ेहमत उठायी है?

तौलना तो दूर की बात है, लोग तो सामान के वज़न पर ध्यान तक नहीं देते. लेकिन सोशल मीडिया का दावा है कि ट्रेन में भारी भरकम सामान लादकर चलने के दिन अब लदने वाले हैं.

कहा जा रहा है कि अब ट्रेन में अपने साथ ले जा रहे सामान के वज़न का हिसाब भी रखना होगा. दावा है कि  रेलवे ने ट्रेन में सामान के वज़न को लेकर एक नया नियम बना दिया है. नियम ये है कि अब ट्रेन में आप अपने साथ दस किलो से ज़्यादा वज़न का सामान मुफ़्त नहीं ले जा सकते. लेकर गये तो चार्ज लगेगा.

वायरल मेसेज से जुड़े तीन सवाल

ऐसे में सवाल है क्या वाक़ई अब ट्रेन में सफ़र करते हुये दस किलो तक का सामान ही मुफ़्त में ले जा सकेंगे?

अगर सामान दस किलो से ज़्यादा हुआ तो क्या इसका चार्ज वसूला जायेगा? कितना चार्ज भरना होगा?

ये सामान के दस किलो वज़न की सीमा किस आधार पर तय की गयी है?
Loading...

न्यूज 18 हिंदी ने इन सभी सवालों की पड़ताल की. हमने रेलवे की वेबसाइट को भी खंगाल डाला. लेकिन वेबसाइट पर वायरल मेसेज से जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली. न्यूज 18 ने उत्तर रेलवे के अधिकारियों से भी इस पर बातचीत की, जिसमें पता चला कि रेलवे ने 10 किलो से ज्यादा वज़न ले जाने पर चार्ज लगाने का कोई फ़ैसला नहीं लिया है.

न्यूज 18  की पड़ताल में ये दावा ग़लत निकला कि रेलवे ने ज्यादा सामान ले जाने वाले यात्रियों से पैसे वसूलने का नियम बनाया है.

फिर क्या हैं रेलवे में समान ले जाने के नियम

रेलवे ने दस किलो तक के वज़न की कोई सीमा तय नहीं की है. रेलवे की अलग-अलग क्लास के हिसाब से बिना चार्ज के सामान में ले जाने की सीमा भी अलग-अलग है.

फ़र्स्ट AC 
मसलन, फ़र्स्ट AC से सफ़र करते वक़्त यूं तो हर यात्री 150 किलो तक सामान अपने साथ ले जा सकता है लेकिन इसमें सिर्फ़ 70 किलोग्राम तक के सामान पर ही छूट मिलती है.70 किलो से ज़्यादा भारी सामान पर चार्ज वसूला जाता है और अगर सामान 150 किलो से भी ज़्यादा हो तो फिर वो पार्सल बुकिंग के ज़रिये आता है.

सेकेंड AC 

अगर आपके पास सेकेंड AC की टिकट है तो आप अधिकतम 100 किलो तक के वज़न के सामान के साथ सफ़र कर सकते हैं लेकिन सिर्फ़ 50 किलोग्राम तक सामान ही मुफ़्त में ले जाया जा सकता है.

स्लीपर और थर्ड AC 

स्लीपर और थर्ड AC में मुफ़्त सामान ले जाने की ये सीमा 40 किलो है.इससे ज्यादा वजन के लिए पार्सल ऑफिस से बुकिंग करानी पड़ती है.

जनरल कैटगिरी के लिए नियम

रेलवे के जनरल कैटगरी में मुफ़्त सामान ले जाने की सबसे कम लिमिट है.  जेनरल कैटगरी में  35 किलो तक सामान बिना किसी अतिरिक्त चार्ज के ले जाने की इजाज़त है. और एक 5 से 12 साल की उम्र तक का बच्चा ट्रेन से सफ़र कर रहा हो तो पहले बतायी गयी निर्धारित सीमा से आधा और अधिकतम 50 किलो वज़न अपने साथ बिल्कुल मुफ़्त ले जा सकता है.

न्यूज 18 हिंदी की पड़ताल में वायरल ख़बर ग़लत साबित हुई है. रेलवे ने ट्रेन में सिर्फ़ 10 किलो तक ही सामान मुफ़्त ले जाने का कोई नियम नहीं बनाया है.

ये भी पढ़ें-क्या भारत में बिक रहे हैं नकली अंडे? जानें क्या है सच

क्या पीएम मोदी की जीत पर पाकिस्तान में मना था जश्न? ये है Viral Video का सच..

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 12:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...