होम /न्यूज /राष्ट्र /वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाले लोगों को क्या मास्क लगाना जरूरी है? जानें हर सवाल का जवाब

वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाले लोगों को क्या मास्क लगाना जरूरी है? जानें हर सवाल का जवाब

अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के अनुसार, टीका लगवा चुके लोगों को अब मास्क पहनने या दूसरों से छह फीट दूर रहने के लिए बाध्य नहीं किया जाता है, चाहे वह बाहर हों या घर के अंदर. . ( प्रतीकात्‍मक चित्र )

अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के अनुसार, टीका लगवा चुके लोगों को अब मास्क पहनने या दूसरों से छह फीट दूर रहने के लिए बाध्य नहीं किया जाता है, चाहे वह बाहर हों या घर के अंदर. . ( प्रतीकात्‍मक चित्र )

FAQ for fully vaccinated people: जिन लोगों ने अपनी दोनों खुराक पहले ही ले ली हैं, वे आने वाले दिनों में भारत में अंतर-र ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. वैक्सीनेशन करवा रहे लोगों के मन में अभी भी कोविड प्रोटोकॉल को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. जहां लोग अभी तक इस बात को लेकर संशय में हैं कि किस हद तक कोविड व्यवहार का पालन करना है और कहां पर उन्हें इससे छूट मिल सकती है. बिना मास्क के घूमने, बिना किसी चिंता के सफर करने, घूमने-फिरने आदि के लिए कौन से नियमों का पालन जरूरी है, ये सवाल लगभग सभी के मन में है. ऐसे में हम आपको उन सभी सवालों का जवाब देंगे जो वैक्सीन की दोनों डोज़ लेने के बाद आपके मन में आ रहे होंगे.

  • कब आप खुद को पूरी तरह से वैक्सीनेटेड मानें?

    क्योंकि भारत में अभी सिर्फ दो डोज़ वाली वैक्सीन दी जा रही हैं ऐसे में यूएस सीडीसी के मुताबिक वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के दो हफ्ते बाद आप खुद को पूरी तरह से वैक्सीनेटेड मान सकते हैं.


  • क्या मुझे अभी भी खतरा है?

    सीडीसी का कहना है कि इंडोर और आउटडोर गतिविधियां पूरी तरह से टीकाकरण वाले लोगों के लिए न्यूनतम जोखिम पैदा करती हैं.


  • क्या मैं अभी भी वायरस को फैला सकता हूं?

    पूरी तरह से टीका लगवा चुके लोगों में SARS-CoV-2 को बिना टीकाकरण वाले लोगों तक पहुंचाने का जोखिम कम होता है, हालांकि इसकी संभावना बनी रहती है.


  • क्या हमें अभी भी मास्क पहनना होगा?

    अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के अनुसार, टीका लगवा चुके लोगों को अब मास्क पहनने या दूसरों से छह फीट दूर रहने के लिए बाध्य नहीं किया जाता है, चाहे वह बाहर हों या घर के अंदर. अमेरिका, डेनमार्क, ग्रीस, फ्रांस और स्पेन सहित कम से कम आठ देशों ने मास्क अनिवार्य कर दिया है, लेकिन भारत ने ऐसा कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किया है. क्योंकि यहां पूरी तरह से टीकाकरण कराने वालों का प्रतिशत नाममात्र ही है.

    हालांकि, यह देखते हुए कि ऐसे लोग अभी भी वायरस ले जा सकते हैं और दूसरों को संक्रमित कर सकते हैं, सार्वजनिक क्षेत्रों में मास्क पहनना और छह फीट की दूरी बनाए रहने की सिफारिश की जाती है.


  • क्या मैं यात्रा कर सकता हूं?

    पूरी तरह से टीका लगवा चुके लोग घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय यात्राओं से पहले टेस्ट से बच सकते हैं (जब तक कि गंतव्य देश द्वारा आवश्यक न हो) और भारत लौटने के बाद क्वारंटीन होने की आवश्यकता नहीं होगी. यात्रियों को वायरस के नए रूपों के प्रसार के कारण यात्रा करने से पहले अपने अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों की स्थिति पर पूरा ध्यान देने की आवश्यकता है. कोविड -19 के लिए वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह (एनईजीवीएसी) और भारत में टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) ने स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ हालिया बैठक के दौरान इसकी सिफारिश की थी.

    जिन लोगों ने अपनी दोनों खुराक पहले ही ले ली हैं, वे आने वाले दिनों में भारत में अंतर-राज्यीय यात्रा के दौरान कोविड टेस्ट और क्वारंटीन से बच सकते हैं. हालांकि, विमानों, बसों, ट्रेनों और सार्वजनिक परिवहन के अन्य रूपों में अभी भी मास्क की आवश्यकता होती है.


  • मुझे बड़ी सभाओं या बाहरी सार्वजनिक स्थानों पर क्या करना चाहिए?

    जब एक घर के बाहर या बंद जगह में ऐसे लोग हों जिनका पूरी तरह से टीकाकरण नहीं हुआ है और उनमें से किसी को भी कोविड-19 का खतरा नहीं है, तो पूरी तरह से टीका लगाए गए व्यक्ति मास्क नहीं पहनने या सामाजिक दूरी बनाए रखने का विकल्प चुन सकते हैं. विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि बाहर बैठने की व्यवस्था के मामले में जहां पर्यावरण नियंत्रित नहीं है और अजनबियों के मिलने की संभावना है, अगर लोग दूरी बनाए नहीं रख सकते हैं तो मास्क लगा लें. जब सार्वजनिक रूप से बाहर, जैसे कि किराने की दुकान, फार्मेसी, या अन्य व्यवसाय में, लगभग सभी के लिए मास्क की आवश्यकता होती है, भले ही आपको टीका लगाया गया हो या नहीं.


  • काम के बारे में क्या?

    किसी व्यक्ति के टीकाकरण की स्थिति की परवाह किए बिना, जनता के लिए सुलभ किसी भी स्थान पर मास्क की आवश्यकता होती है. उदाहरण के लिए, यदि आप व्यवसाय के चलते विभिन्न ग्राहकों के संपर्क में आते हैं या आप सामुदायिक सेवाएं प्रदान करते हैं जहां आम जनता के लोग चल सकते हैं, तो उन जगहों पर मास्क की आवश्यकता होती है.


  • अगर मैं किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ जाऊं तो क्या होगा?

    अमेरिकी स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे मामलों में जिसमें संक्रमित व्यक्ति को कोई लक्षण नहीं है तो टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है. अगर संक्रमित व्यक्ति को बीमारी के लक्षण हैं तो उन्हें भी परीक्षण कराने की आवश्यकता नहीं है. हालांकि, उन्हें अभी भी संक्रमण फैलने की संभावना को कम करने के लिए कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन करना होगा और, उन्हें एक्सपोजर के बाद भी 14 दिनों तक लक्षणों की निगरानी करनी होगी.


  • क्या कोरोनावायरस के संपर्क में आने पर मुझे परीक्षण करवाना चाहिए?

    अभी के लिए, दोनों वैक्सीन लगवा चुके लोगों को कोविड-19 के लक्षणों का अनुभव होने पर परीक्षण किया जाता है. यदि वह पिछले 10 दिनों में कोविड-19 टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाते हैं या कोविड -19 लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं तो उन्हें सार्वजनिक तौर पर आने से बचना चाहिए.


  • अगर मैं कोविड-19 के लक्षणों का अनुभव कर रहा हूं तो मैं क्या करूं?

    हालांकि पूरी तरह से टीका लगाने वाले लोगों के कोविड-19 से संक्रमित होने का जोखिम कम है, लेकिन नए वेरिएंट के चलते इशकी संभावना अधिक हो रही है. पूरी तरह से वैक्सीनेशन करवा चुका कोई भी व्यक्ति जो कोविड-19 के अनुरूप लक्षणों का अनुभव करता है, उसे खुद को दूसरों से अलग करना चाहिए, कोविड-19 के लक्षणों का ध्यान रखना चाहिए और संकेत मिलने पर परीक्षण करवाना चाहिए. अगर आपको संक्रमण के पूरे लक्षण दिख रहे हैं तो ऐसी स्थिति में देखभाल कर रहे शख्स और हेल्थवर्कर को अपने टीकाकरण के बारे में बताना चाहिए.
  • Tags: Coroanvirus Vaccination, Corona Mask, Corona vaccine, Covid Vaccination, Social Distancing

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें