लाइव टीवी

G-20 Summit: PM मोदी ने कहा- ट्रंप से ईरान, 5जी समेत इन मुद्दों पर हुई चर्चा

News18Hindi
Updated: June 28, 2019, 9:55 AM IST

G-20 समिट में पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, 'हम अच्छे दोस्त बन गए हैं और हमारे देश कभी भी इतने करीबी नहीं रहे हैं. मैं यकीन के साथ कह सकता हूं. हम मिलिट्री सहित कई तरीकों से काम करेंगे, हम आज व्यापार पर चर्चा करेंगे.'

  • Share this:
जी 20 समिट से अलग भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच जापान के ओसाका में बैठक हुई. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप ने बातचीत की. प्रधानमंत्री मोदी ने ओसाका में पत्रकारों को जानकारी दी कि ट्रंप से उनकी ईरान, 5 G, द्वीपक्षीय संबंध और रक्षा संबंध पर बात हुई. पीएम मोदी ने ट्रंप के लिए कहा कि आपने जीत की बधाई दी, आपका भारत के प्रति प्यार है, उसके लिए आभारी हूं.

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति ने बताया, 'इस मीटिंग में ईरान, 5जी, हमारे द्विपक्षीय रिश्ते और सामरिक रिश्ते पर बात हुई.' ट्रंप ने कहा कि 'हम अच्छे दोस्त बन गए हैं और हमारे देश कभी भी इतने करीबी नहीं रहे हैं. मैं यकीन के साथ कह सकता हूं. हम मिलिट्री सहित कई तरीकों से काम करेंगे, हम आज व्यापार पर चर्चा करेंगे.'

ट्रंप ने भारतीय लोकसभा चुनाव का जिक्र भी किया. उन्होंने कहा, 'आप (पीएम मोदी) इसके लायक हैं (आम चुनावों में जीत). आपने सबको एक साथ लाने में बहुत अच्छा काम किया है. मुझे याद है जब आपने पहली बार सत्ता संभाली थी, तब कई गुट थे और वे एक-दूसरे से लड़ रहे थे और अब वे साथ हैं. यह आपकी और आपकी क्षमताओं के लिए एक शानदार उपहार है.'


Loading...

यह भी पढ़ें: ओसाका में भारत, जापान और अमेरिका की त्रिपक्षीय बैठक शुरू

रोजगार करने की हर देश में मिले आजादी : मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स देशों की मीटिंग को संबोधित करते हुए निर्बाध आवाजाही का मुद्दा उठाया.
पीएम मोदी ने कहा, 'दुनियाभर में कुशल कारीगरों का आवागमन आसान होना चाहिए. इससे उन देशों को भी लाभ होगा, जहां की आबादी का एक बड़ा हिस्सा कामकाज की उम्र को पार कर चुका है.' पीएम मोदी की इस टिप्पणी को अमेरिका की ओर से एचबी 1 वीजा के नियमों को कड़ा किए जाने को लेकर संकेत है.



इसे भी पढ़ें :- टैरिफ बढ़ाने से भारत पर भड़के डोनाल्ड ट्रंप, कहा- ये अस्वीकार्य है

आतंकवाद आज के समय में मानवता के लिए खतरा : मोदी
ब्रिक्स देशों की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आतंकवाद आज के समय में मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा बन चुका है. यह सिर्फ निर्दोष लोगो की जान ही नहीं लेता बल्कि यह आर्थिक विकास और सामाजिक शांति पर भी नकारात्‍मक प्रभाव डालता है. हमें आतंकवाद की मदद करने वाले सभी माध्‍यमों को रोकने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ें :-G-20 समिट: PM मोदी से मिलने से पहले ट्रंप ने भारत के इस कदम पर जताई नाराज़गी!

पीएम मोदी ने कहा था
इससे पहले पीएम मोदी ने जी-20 शिखर सम्‍मेलन में भाग लेने के लिए रवाना होते समय कहा था, 'मैं शिखर सम्‍मेलन में भाग लेने के लिए जापान में ओसाका जा रहा हूं. वहां विश्‍व के अन्‍य नेताओं के साथ विश्‍व की प्रमुख चुनौतियों और अवसरों के बारे में चर्चा होगी. महिला सशक्तिकरण, डिजीटलीकरण एवं आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और आतंकवाद तथा जलवायु परिवर्तन जैसी वैश्विक चुनौतियों के समाधान के लिए हमारे साझा प्रयास इस शिखर सम्‍मेलन के प्रमुख मुद्दे हैं.' मोदी ने कहा था कि वे इस शिखर सम्‍मेलन के साथ-साथ रूस, भारत और चीन (आरआईसी) के अनौपचारिक शिखर सम्‍मेलन की मेजबानी करेंगे और ब्रिक्‍स (ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका) तथा JAI (जापान, अमरीका और भारत) के नेताओं की आगामी अनौपचारिक बैठकों में भी भाग लेंगे.

यह भी पढ़ें:  मोदी से बोले ट्रंप- हम अच्छे दोस्त, मिलकर काम कर सकते हैं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 28, 2019, 7:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...