अपना शहर चुनें

States

गलवान के नायकों को गणतंत्र दिवस पर मरणोपरांत किया जा सकता है सम्मानित

गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए कर्नल बी. संतोष बाबू को वीरता पदक से सम्मानित किया जाएगा.
गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए कर्नल बी. संतोष बाबू को वीरता पदक से सम्मानित किया जाएगा.

India-China Standoff: गलवान घाटी में 15 जून को दोनों देशों की सेनाओं के बीच झड़प हो गयी थी जिसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गये थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) की गलवान घाटी (Galwan Valley) में पिछले साल जून में चीनी सैनिकों (Chinese Soldiers) के साथ बहादुरी से लड़ते हुए शहीद हुए कर्नल बी संतोष बाबू तथा कुछ अन्य भारतीय सैनिकों (Indian Soldiers) को गणतंत्र दिवस (Repulic Day) के अवसर पर वीरता पुरस्कारों (Gallantry awards) से सम्मानित किया जा सकता है. सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी.

गलवान घाटी में 15 जून को चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में जान गंवाने वाले 20 भारतीय सैन्य कर्मियों में 16 बिहार रेजीमेंट के कमांडिंग अधिकारी कर्नल बाबू भी शामिल थे. यह घटना पिछले कुछ दशकों में दोनों पक्षों के बीच सर्वाधिक गंभीर सैन्य संघर्षों में से एक गिनी गयी. चीन ने संघर्ष में हताहत हुए अपने जवानों की संख्या का खुलासा आज तक नहीं किया है लेकिन उसने आधिकारिक रूप से सैनिकों के मरने और घायल होने की बात स्वीकार की थी. एक अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट के अनुसार चीन के भी 35 सैनिक मारे गये थे.

ये भी पढ़ें- क्या है चाइना सिंड्रोम और क्यों इसने उथल-पुथल मचा रखी है?




गलवान के संघर्ष से बढ़ा था पूर्वी लद्दाख सीमा तनाव
गलवान घाटी में हुए संघर्ष ने पूर्वी लद्दाख में सीमा पर तनाव को बढ़ा दिया था, जिसके बाद दोनों सेनाओं ने टकराव वाले बिंदुओं पर भारी संख्या में सैनिकों की तैनाती की और भारी हथियार पहुंचाए.

एक सूत्र ने कहा, ‘‘गलवान में संघर्ष के दौरान असाधारण साहस दिखाने वाले कर्नल बाबू समेत सेना के कुछ कर्मियों को गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जा सकता है. ’’

भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में पोस्ट 120 पर ‘गलवान के बहादुरों’ के लिए एक स्मारक बनवाया है. इसमें ‘स्नो लेपर्ड’ अभियान के तहत इन जवानों की वीरता का उल्लेख किया गया है. इसके अलावा सैन्य मामलों का विभाग दिल्ली में राष्ट्रीय समर संग्रहालय में कर्नल बाबू और 19 अन्य जवानों के नाम अंकित करने वाला है.

ये भी पढ़ें- भारत सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट को दिया कोरोना वैक्सीन का ऑर्डर, इतनी होगी कीमत

गौरतलब है कि भारत और चीन आठ महीने से पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद में उलझे हैं और उससे उनके रिश्ते बहुत तनावपूर्ण हो गये हैं. दोनों पक्षों ने इस विवाद के समाधान के लिए कई दौर की कूटनीतिक और सैन्य वार्ता की लेकिन अब तक बात नहीं बन पायी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज