Home /News /nation /

विशाखापट्टनम: फार्मा कंपनी में गैस लीक से 2 की मौत और 4 बीमार, CM ने दिए जांच के आदेश

विशाखापट्टनम: फार्मा कंपनी में गैस लीक से 2 की मौत और 4 बीमार, CM ने दिए जांच के आदेश

गैस लीकेज के बाद बीमार लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

गैस लीकेज के बाद बीमार लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

Visakhapatnam Gas Leak:-विशाखापट्टनम (Visakhapatnam) की परवादा फार्मा कंपनी के फैक्ट्री में गैस लीक (Gas Leak) मंगलवार सुबह हुआ. प्रशासन ने आसपास के गांवों का खाली करा दिया है. परवादा फार्मा सिटी के 2 किलोमीटर के दायरे में गैस रिसाव का असर देखा जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...
    हैदराबाद. आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम (Visakhapatnam) स्थित एक फार्मा कंपनी की फैक्ट्री में जहरीली गैस (Gas Leak at Pharma Company) के रिसाव का मामला सामने आया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, गैस लीकेज से अब तक 2 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 4 लोगों की हालत बिगड़ गई है. उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना मंगलवार की सुबह हुई. प्रशासन ने आसपास के गांवों का खाली करा दिया है. मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने फैक्ट्री को तुरंत बंद करने और इस हादसे की जांच के आदेश दिए हैं.

    अधिकारियों के मुताबिक, गैस का लीकेज परवादा फार्मा सिटी के लाइफ साइंस की फैक्ट्री में हुई. बताया जा रहा है कि यहां कम से कम 30 लोग काम करते हैं. जहरीली गैस से 4 लोगों की तबीयत बिगड़ गई है. इनमें से एक की हालत गंभीर बनी हुई है. सभी को गजुवाका प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है.



    वहीं, इस हादसे में मरने वालों की पहचान नरेंद्र और गौरी शंकर के तौर पर हुई है. अधिकारियों के मुताबिक, हादसे के दौरान नरेंद्र शिफ्ट इंचार्ज था.

    फार्मा कंपनी के अधिकारी इस वक्त लीकेज साइट पर मौजूद हैं. परवादा पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर उदय कुमार ने न्युज़ एजेंसी ANI से कहा- 'जिन दो लोगों की मौत हुई है, वो हादसे के दौरान साइट पर थे. फिलहाल हालात कंट्रोल में है. गैस कही और नहीं फैल पाई है.'



    इस बीच आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से बयान आया है. CMO ने कहा- 'मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं. ऐहतिहात के तौर पर फैक्ट्री को तत्काल शटडाउन करने का आदेश दिया गया है.

     

    दो महीने में जिले में गैस लीकेज की ये दूसरी घटना है. इससे पहले एलजी पॉलिमर की केमिकल फैक्ट्री में 7 मई को एक बड़ा गैस रिसाव हुआ, जिससे कम से कम 12 लोगों और कई मवेशियों की मौत हो गई. इसी तरह का गैस रिसाव (रायगढ़, छत्तीसगढ़ में एक पेपर मिल में) और एक बॉयलर ब्लास्ट (नेवेली, तमिलनाडु) में हुआ.

    22 मई को महाराष्ट्र के पुणे में एक रासायनिक कारखाने में आग लगने की घटना सामने आई थी. फिलहाल इन घटनाओं की जांच की जा रही है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर