अपना शहर चुनें

States

गुवाहाटी HC को मिले नए मुख्य न्यायाधीश, अब सभी 25 उच्च न्यायालयों में नियमित मुख्य न्यायाधीश

हाल-फिलहाल तक कुछ उच्च न्यायालय में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश थे.  (सांकेतिक तस्वीर)
हाल-फिलहाल तक कुछ उच्च न्यायालय में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश थे. (सांकेतिक तस्वीर)

Gauhati High Court New CJ: न्यायमूर्ति धूलिया की गुवाहाटी उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर नियुक्ति के साथ ही देश में अब सभी 25 उच्च न्यायालयों में नियमित मुख्य न्यायाधीश हो गए हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तराखंड उच्च न्यायालय (Uttarakhad High Court) के न्यायाधीश सुधांशु धूलिया को गुरुवार को प्रोन्नत कर गुवाहाटी उच्च न्यायालय (Gauhati High Court) का नया मुख्य न्यायाधीश बनाया गया है. विधि मंत्रालय ने यह जानकारी दी. उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के कॉलेजियम ने हाल में इस पद पर उनके नाम की अनुशंसा की थी. न्यायमूर्ति धूलिया की गुवाहाटी उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर नियुक्ति के साथ ही देश में अब सभी 25 उच्च न्यायालयों में नियमित मुख्य न्यायाधीश हो गए हैं.

हाल-फिलहाल तक कुछ उच्च न्यायालय में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश थे. पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय (Punjab & Haryana High Court) के न्यायमूर्ति एस मुरलीधर को हाल में प्रोन्नत कर ओडिशा उच्च न्यायालय (Odisha High Court) का मुख्य न्यायाधीश बनाया गया. दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) की न्यायमूर्ति हिमा कोहली को प्रोन्नत करते हुए तेलंगाना उच्च न्यायालय (Telangana High Court) का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया. इलाहाबाद उच्च न्यायालय (Allahabad High Court) के न्यायमूर्ति पंकज मित्थल को केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर, लद्दाख के साझा उच्च न्यायालय (Jammu Kashmir & Ladakh High Court) का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस का नेतृत्‍व करने को राहुल हिचक रहे, राजस्‍थान और हरियाणा के मसलों पर निगाहें टिकीं



कलकत्ता उच्च न्यायालय (Calcutta High Court) के न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजीब बनर्जी को मद्रास उच्च न्यायालय (Madras High Court) का नया मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया था.
इस बीच उच्चतम न्यायालय में भी न्यायाधीशों के चार पद रिक्त हैं और विधि मंत्रालय को यह पद भरने के लिये कॉलेजियम से अभी अनुशंसाएं प्राप्त नहीं हुई हैं.

सुप्रीम कोर्ट में चार पद हैं खाली
भारत के प्रधान न्यायाधीश के पद से न्यायमूर्ति रंजन गोगोई के नवंबर 2019 में सेवानिवृत्त होने के बाद न्यायालय में पहली रिक्ति बनी थी. बाद में तीन और न्यायाधीशों न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता, न्यायमूर्ति आर भानुमति और न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा के सेवानिवृत्त होने से और पद खाली हुए.

ये भी पढ़ें- बॉम्बे हाईकोर्ट के जज बोले- सुशांत चेहरे से अच्छे व्यक्ति लगते थे

स्वीकृत 34 पदों के बजाए उच्चतम न्यायालय में अभी सिर्फ 30 न्यायाधीश काम कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज