सांसद गौतम गंभीर की नेक पहल, 25 सेक्स वर्कर्स की बेटियों की उठाएंगे पूरी जिम्मेदारी

सांसद गौतम गंभीर की नेक पहल, 25 सेक्स वर्कर्स की बेटियों की उठाएंगे पूरी जिम्मेदारी
गौतम गंभीर ने सेक्स वर्कर्स की बेटियों की मदद के लिए पहल की घोषणा की (फाइल फोटो)

गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा, ‘समाज में हर व्यक्ति को एक अच्छा जीवन जीने का अधिकार है और मैं सुनिश्चित करना चाहता हूं कि इन बच्चियों को और अवसर मिलें, ताकि वे अपने सपने साकार कर सकें.'

  • Share this:
नई दिल्ली. जाने-माने पूर्व क्रिकेटर और ईस्ट दिल्ली से बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir)  ने सेक्स वर्कर्स की बेटियों के बेहतर भविष्य के लिए बेहद ही नेक पहल शुरू की है. गौतम गंभीर ने दिल्ली के जीबी रोड (GB Road) एरिया में काम करने वाली 25 सेक्स वर्कर्स की बेटियों की जिम्मेदारी उठाने की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य और उनके जीवन यापन से जुड़ी सभी जरूरतों का पूरा ख्याल उनके द्वारा चलाई जाने वाली संस्था के द्वारा रखा जाएगा. इसकी शुरुआत शुक्रवार यानी आज से ही की जाएगी.

गौतम गंभीर  (Gautam Gambhir) ने कहा, ‘समाज में हर व्यक्ति को एक अच्छा जीवन जीने का अधिकार है और मैं सुनिश्चित करना चाहता हूं कि इन बच्चियों को और अवसर मिलें, ताकि वे अपने सपने साकार कर सकें. मैं उनकी जीविका, शिक्षा और स्वास्थ्य का ध्यान रखूंगा.’ उन्होंने बताया कि इस समय 10 लड़कियों का चयन किया गया है, जो इस सत्र में विभिन्न सरकारी स्कूलों में पढ़ रही हैं.

25 लड़कियों की मदद का लक्ष्य



गंभीर ने कहा कि आगामी सत्र में इस कार्यक्रम में और बच्चियों को शामिल किया जाएगा और कम से कम से 25 बच्चियों की मदद करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि ये लड़कियां अभी दिल्ली के शेल्टर होम्स में रह रही हैं, लेकिन उनकी पहचान गुप्त रखी जाएगी. उन्होंने बताया कि 5 से लेकर 18 साल तक की लड़कियों को काउंसिलिंग के माध्यम से सशक्त बनाने की कोशिश की जाएगी, ताकि वह अपनी पढ़ाई बीच में न छोड़ें.
नानी के जन्मदिन पर नई पहल की शुरूआत

गौतम गंभीर की इस मुहिम को 'पंख' नाम दिया गया है. उन्होंने अपील की है कि अगर कोई शख्स इन बच्चियों की मदद करना चाहता है और उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य, खाने-पानी आदि की जरूरतों के लिए आर्थिक सहयोग करना चाहता है, तो इस पहल से जुड़ सकते हैं. गंभीर ने बताया कि 31 जुलाई को उनकी नानी का जन्म दिन है. इसी दिन उनके आशीर्वाद से उन्होंने इस नई पहल की शुरूआत की है. बता दें कि गंभीर फाउंडेशन देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले 200 शहीदों के बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए भी काम कर रही है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading