लाइव टीवी

CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा था जर्मन छात्र, मिला भारत छोड़ने का फरमान

News18Hindi
Updated: December 24, 2019, 10:54 AM IST
CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा था जर्मन छात्र, मिला भारत छोड़ने का फरमान
जैबक की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं.

नागरिकता कानून (Citizenship Act) के खिलाफ जैकब ने अपने ट्विटर हैंडल से कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं, जिनमें वह हाथों में स्लोगन लिखीं तख्तियां लिए दिख दे रहे थे. ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 24, 2019, 10:54 AM IST
  • Share this:
चेन्नई. भारतीय प्रद्योगिकी संस्थान (IIT मद्रास) में भौतिकी (Physics) में पोस्ट ग्रैजुएट कर रहे जर्मन छात्र जैकब लिंडेनथल सोमवार को एम्सटर्डम लौट गए. दरअसल नागरिकता संसोधन कानून (CAA) के खिलाफ पिछले हफ्ते हुए प्रदर्शन में शामिल होने के चलते आव्रजन विभाग से उन्हें चेतावनी मिली थी.

जैकब ने अपने ट्विटर हैंडल से कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं, जिनमें वह हाथों में स्लोगन लिखीं तख्तियां लिए दिख दे रहे थे. सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करते जैकब की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं.


इस मामले में चेन्नई में आव्रजन आधिकारियों ने उन्हें बताया था कि इस तरह विरोध प्रदर्शन में शामिल होना वीजा नियमों का उल्लंघन माना जाएगा. लिंडेनथल ने News18 को बताया, 'मेरे वीजा के साथ कुछ प्रसाशनिक दिक्कतें थी. उन्हें सुलझाने के बाद आव्रजन अधिकारियों ने मेरे राजनीतिक विचारों को लेकर काफी सवाल पूछे. फिर मुझे इस बारे में (भारत छोड़कर वापस जाने) बताया गया.' उन्होंने बताया कि आव्रजन विभाग ने उन्हें आधी रात से पहले देश छोड़ने को कहा था. ऐसे नहीं करने पर उन्हें देश निकाला दे दिया जा सकता था.

लिंडेनथल ने कहा, 'मैं शनिवार-रविवार को बेंगलुरू में था. मेरे कॉर्डिनेटर ने मुझे (सोमवार को) बताया कि मुझे आव्रजन विभाग जाना होगा. मैं वहां गया तो मुझे देश छोड़कर जाने के लिए कहा गया. यह दोपहर दो बजे के करीब हुआ और मुझे तीन बजे तक आईआईटी मद्रास का कैंपस छोड़ना पड़ा. अब मैं अपने वकीलों से बात करके आगे के कदम पर फैसला लूंगा.'

ये भी पढ़ें- जामिया हिंसा: बाइक को लगाई आग, फिर जलती मोटरसाइकिल को खींचकर बस के नीचे रख दिया- सामने आया सनसनीखेज़ VIDEO

CAA और NRC पर बवाल के बीच अब NPR की तैयारी, मोदी कैबिनेट आज प्रस्ताव पर लगा सकती है मुहर
First published: December 24, 2019, 10:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading