Assembly Banner 2021

एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन पर इटली, जर्मनी में भी रोक, जानिए क्या है कारण

फ्रांस, इटली और जर्मनी ने एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन पर रोक लगा दी है.  (सांकेतिक तस्वीर)

फ्रांस, इटली और जर्मनी ने एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन पर रोक लगा दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

AstraZeneca COVID 19 Vaccine: फ्रांस, इटली और जर्मनी ने एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन पर रोक लगा दी है. इससे पहले कुछ देशों में इस वैक्सीन के कारण खून के थक्के जमने की रिपोर्ट आई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2021, 11:52 PM IST
  • Share this:
पेरिस. जहां कई देशों में कोरोना की दूसरी लहर परेशानी पैदा कर रही है वहीं, कोविड-19 की वैक्सीन एस्ट्राजेनेका पर यूरोप के कई देशों में अस्थायी तौर पर रोक लगा दी गई है. कुछ देशों में इस वैक्सीन के कारण खून के थक्के जमने की रिपोर्ट के बाद फ्रांस, इटली और जर्मनी ने इसके इस्तेमाल पर फिलहाल रोक लगा दी है.

इटली में एक 57 वर्षीय शिक्षक के वैक्सीन लेने के कुछ देर बाद मौत की खबर ने कई शंकाएं पैदा कर दी हैं. इटली ने इस मौत की जांच के लिए ऑटोप्सी करने को कहा है.

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि उनके देश में भी एहतियात के तौर पर ऑक्सफोर्ड की एस्ट्राजेनेका वैक्सीन पर मंगलवार तक के लिए रोक लगा दी गई है. इसी दिन यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी इस वैक्सीन पर अपनी रिपोर्ट देगी. उन्होंने कहा कि फ्रांस को उम्मीद है कि जल्द ही एस्ट्राजेनेकी वैक्सीन फिर से लोगों को दी जाएगी.



ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में कोरोना ने डराया, होटल, मॉल्स और रेस्तरां पर राज्य सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस
ये भी पढ़ें: IND VS ENG: अहमदाबाद में बढ़ा कोरोना, खाली स्टेडियम में होंगे भारत-इंग्लैंड टी20 सीरीज के बाकी 3 मैच

इस बीच, जर्मनी ने भी सोमवार को एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन पर रोक लगा दी. हालांकि कंपनी ने दावा किया है कि इस वैक्सीन का ऐसा कोई भी दुष्प्रभाव नहीं होता है. बता दें कि यूरोप के कई देशों के अलावा भारत में कोरोना की दूसरी लहर परेशानी पैदा कर रही है.

भारत में पीएम नरेंद्र मोदी 17 मार्च को देश के सभी राज्यों के सीएम के साथ बैठक करे वाले हैं. महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद कई तरह की गाइडलाइंस जारी की गई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज