लाइव टीवी

जर्मनी ने की गंगा नदी के एक हिस्से को साफ करने की पेशकश

आईएएनएस
Updated: August 27, 2015, 1:22 PM IST
जर्मनी ने की गंगा नदी के एक हिस्से को साफ करने की पेशकश
निर्मल गंगा अभियान का हिस्सा बनने की इच्छा व्यक्त करते हुए जर्मनी ने अपने यहां राइन नदी को साफ करने में उपयोग की गई प्रौद्योगिकी को उत्तराखंड में गंगा नदी के एक हिस्से के पुनर्जीवन में प्रयोग करने की पेशकश की है।

निर्मल गंगा अभियान का हिस्सा बनने की इच्छा व्यक्त करते हुए जर्मनी ने अपने यहां राइन नदी को साफ करने में उपयोग की गई प्रौद्योगिकी को उत्तराखंड में गंगा नदी के एक हिस्से के पुनर्जीवन में प्रयोग करने की पेशकश की है।

  • Share this:
बर्लिन। निर्मल गंगा अभियान का हिस्सा बनने की इच्छा व्यक्त करते हुए जर्मनी ने अपने यहां राइन नदी को साफ करने में उपयोग की गई प्रौद्योगिकी को उत्तराखंड में गंगा नदी के एक हिस्से के पुनर्जीवन में प्रयोग करने की पेशकश की है। राइन नदी को यूरोप में सबसे महत्वपूर्ण जलमार्गों में से एक माना जाता है।

यहां भारतीय समुदाय के चुनिंदा लोगों को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जर्मनी की इस पेशकश का जिक्र किया, साथ ही स्वच्छ गंगा अभियान और स्वच्छ विद्यालय पहल में दिल खोलकर योगदान करने की अपील की। स्वच्छ विद्यालय का लक्ष्य प्रत्येक स्कूल में शौचालय उपलब्ध कराना है।

सुषमा ने कहा कि उनके जर्मन समकक्ष फैंक वॉल्टर स्टेनमेयर ने उनके साथ दो घंटे तक चली बैठक के दौरान उत्तराखंड में गंगा की सफाई करने का प्रस्ताव किया। सुषमा ने अपने जर्मन समकक्ष के साथ बातचीत के दौरान द्विपक्षीय संबंधों के सम्पूर्ण आयामों की समीक्षा की।

यहां अपने संबोधन में सुषमा ने कहा कि जर्मन विदेश मंत्री ने मुझे बताया कि आप गंगा को मां कहते हैं। हमने राइन नदी को साफ किया है। राइन पिता के समान हैं और गंगा मां हैं। भारत के विकास में भारतीय समुदाय के हिस्सा बनने पर जोर देते हुए विदेश मंत्री ने कहा कि एनडीए की पूर्ण बहुमत की सरकार के सत्ता में आने के बाद से देश में जबर्दस्त बदलाव आया है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2015, 1:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर