गाजियाबाद केस में यूपी पुलिस के सवालों का वीडियो कॉल पर जवाब देने को तैयार ट्विटर

ट्विटर इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर ने कहा कि इस मामले से उनका कोई सीधा संबंध नहीं है. (सांकेतिक तस्वीर)

Ghaziabad Assault Case: गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक महेश माहेश्वरी को नोटिस भेजकर एक मुस्लिम व्यक्ति पर हुए कथित हमले से संबंधित मामले की जांच में शामिल होने को कहा था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश स्थित गाजियाबाद (Ghaziabad) के वायरल वीडियो मामले में ट्विटर इंडिया (Twitter India) के प्रबंध निदेशक मनीष माहेश्वरी वीडियो कॉल के जरिए पूछताछ में शामिल होंंगे. सोशल मीडिया कंपनी ने यूपी पुलिस को अनौपचारिक रूप से इस आशय की जानकारी दी है. ट्विटर ने कहा है कि मौजूदा विवाद से कंपनी का कुछ लेना देना नहीं है. हालांकि यूपी पुलिस ट्विटर इंडिया चीफ को फिर से नोटिस भेज सकती है. मिली जानकारी के अनुसार पुलिस, ट्विटर इंडिया के एमडी के बयान से संतुष्ट नहीं है.

    बता दें गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक को एक नोटिस भेजकर उन्हें यहां इस महीने की शुरुआत में एक मुस्लिम व्यक्ति पर हुए कथित हमले से संबंधित मामले की जांच में शामिल होने को कहा था. गाजियाबाद पुलिस ने मामले में 15 जून को ट्विटर, समाचार वेबसाइट द वायर के अलावा कुछ पत्रकारों एवं कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ एक वीडियो साझा करने के आरोप में मामला दर्ज किया जिसमें समद ने दावा किया था कि पांच जून को उसकी पिटाई की गयी और उसे 'जय श्री राम' का नारा लगाने के लिए कहा गया.



    गौरतलब है कि पुलिस अधीक्षक (गाजियाबाद ग्रामीण) ईरज राजा ने पत्रकारों को बताया था, ‘मनीष माहेश्वरी ट्विटर इंडिया के एमडी हैं और उन्हें CPRC की धारा 166 के तहत एक नोटिस भेज कर जांच में सहयोग करने के लिए कहा गया है. उनसे कुछ अन्य जानकारियां भी मांगी गयी हैं और उन्हें स्थानीय पुलिस थाने में पेश होने के लिए सात दिन का समय दिया गया है.’

    उम्मेद पहलवान को दो हफ्ते की ज्यू़डिशियल कस्टडी
    दूसरी ओर रविवार को सांप्रदायिक विवाद फैलाने के आरोप में शनिवार को गिरफ्तार किये गये उम्मेद पहलावन इदरिसी को दो सप्ताह के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया . पहलवान के खिलाफ एक मुस्लिम व्यक्ति पर हुए हमले का वीडियो साझा कर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने का आरोप है .

    लोनी सीमा पुलिस ने समाजवादी पार्टी के स्थानीय नेता इद​रिसी को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शुभम वर्मा के समक्ष पेश किया. उसके खिलाफ IPC की धारा 153ए (धर्म एवं वर्ग के आधार पर दो समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना), 295ए (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कार्य, जिसका उद्देश्य किसी भी वर्ग के धर्म या धार्मिक विश्वास का निरादर करके उसकी धार्मिक भावनाओं को आहत करना है), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझ कर किया गया अपमान) और 505 (सार्वजनिक व्यवधान) के तहत मामला दर्ज किया है. पुलिस ने उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 467/468/469/471 के तहत भी मामला दर्ज किया है .

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.