Assembly Banner 2021

वेज की जगह गलती से भेज दिया नॉनवेज पिज्‍जा, महिला ने मांगा 1 करोड़ रुपये का हर्जाना

महिला ने मंगाना वेज पिज्‍जा कंपनी ने गलती से भेज दिया नॉन-वेज पिज्‍जा.

महिला ने मंगाना वेज पिज्‍जा कंपनी ने गलती से भेज दिया नॉन-वेज पिज्‍जा.

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Ghaziabad) की दीपाली त्यागी ने बताया कि साल 2019 में उन्‍होंने ये ऑर्डर होली के दिन दिया था. उन्‍होंने कहा कि होली के खास मौके पर पिज्‍जा कंपनी ने जो हरकत की है, उसके कारण उनकी धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 14, 2021, 12:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. अमेरिकी पिज्‍जा कंपनी (American pizza company) को गलत डिलीवरी करना इस कदर भारी पड़ गया कि महिला ने कंपनी पर एक करोड़ रुपये हर्जाने (Compensation) का दावा ठोक दिया. दरअसल महिला ने वेज पिज्‍जा (veg pizza) का ऑर्डर दिया था, लेकिन उसे गलती से नॉनवेज पिज्‍जा (Non-Veg Pizza)  चला गया. इस बात से महिला इस कदर नाराज हुई कि अमेरिकी कंपनी के खिलाफ उपभोक्‍ता फोरम (Consumer Forum) का दरवाजा खटखटा दिया. महिला ने कंपनी से अब 1 करोड़ रुपये हर्जाना मांगा है.

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की दीपाली त्यागी ने 21 मार्च 2019 को घर पर एक अमेरिकी पिज्जा रेस्‍तरां से वेज पिज्‍जा का ऑर्डर किया था. हालांकि कंपनी की ओर से उनके घर पर जो पिज्‍जा भेजा गया वह नॉनवेज निकला. दीपाली ने इसे लेकर उपभोक्ता फोरम में केस दायर किया है. दीपाली का कहना है कि वह पारिवारिक व धार्मिक मान्यताओं, अपनी पसंद व अपने अंत:करण से विशुद्ध शाकाहारी हैं.

दीपाली ने बताया कि साल 2019 में उन्‍होंने ये ऑर्डर होली के दिन दिया था. उन्‍होंने कहा कि होली के खास मौके पर पिज्‍जा कंपनी ने जो हरकत की है, उसके कारण उनकी धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है. उन्‍होंने कहा कि होली के दिन जब हम सभी होली के बाद पिज्‍जा खाने बैठे तो पहली बाइट लेते ही हमें पता चल गया कि ये नॉनवेज पिज्‍जा है. उन्‍होंने मशरूम को ध्‍यान में रखते हुए पिज्‍जा का ऑर्डर दिया था लेकिन जो पिज्‍जा भेजा गया उसमें मांस के टुकड़े थे.
इसे भी पढ़ें :- लोगो वाला कैरी बैग पर कंपनी अगर चार्ज वसूले तो करें यहां शिकायत, होगी तुरंत कार्रवाई



धार्मिक भावना को पहुंचाई ठेस
महिला की वकील फरहत वारसी ने उपभोक्‍ता फोरम में शिकायत करते हुए कहा कि उनकी मुवक्किल ने पिज्‍जा कंपनी को इस बारे में शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन कंपनी ने इस मामले में काफी हल्‍के में लिया. 26 मार्च 2019 को कंपनी के एक मैनेजर ने उन्हें कॉल किया और पूरे परिवार के लिए मुफ्त में वेज पिज्जा भेजने की पेशकश की. इस पर पीड़िता ने कहा कि यह कोई साधारण केस नहीं है, हमारी धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाई गई है. मामले की अगली सुनवाई 17 मार्च को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज