अपना शहर चुनें

States

मैेने सुषमा स्वराज पर नहीं डाला कोई दबाव: गुलाम नबी आजाद

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद कुछ सवालों का सीधा जवाब देने से बचते हुए दिखे।
राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद कुछ सवालों का सीधा जवाब देने से बचते हुए दिखे।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद कुछ सवालों का सीधा जवाब देने से बचते हुए दिखे।

  • Share this:
नई दिल्लीराज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद इन सवालों का सीधा जवाब देने से आज बचते हुए दिखे कि क्या कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता वही हैं जिनके बारे में कहा जा रहा है कि जिन्होंने कोयला घोटाले के आरोपी और पूर्व मंत्री संतोष बागरोडिया को राजनयिक पासपोर्ट दिलाने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर दबाव डाला था।

जब एआईसीसी ब्रीफिंग में आजाद से पूछा गया कि क्या वो ही कांग्रेसी नेता हैं जिनका सुषमा ने जिक्र किया था, तो उन्होंने कहा कि क्या उन्होंने यह कहा है? मैं यह बात क्यों कहूंगा? उन्होंने यह भी कहा कि बागरोडिया ने खुद साफ कर दिया है कि उन्होंने अपने राजनयिक पासपोर्ट के विस्तार की मांग की थी जो छह महीने में समाप्त होने वाला था। उन्हें अपनी पत्नी को उपचार के लिए अमेरिका ले जाना था।

आजाद ने कहा कि आप इसकी तुलना ललित मोदी मामले और व्यापमं घोटाले से कैसे कर सकते हैं? व्यापमं दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला है। यह उनकी संकीर्णता दिखाता है। उन्होंने कहा कि सुषमा ने बागरोडिया के मामले में कार्रवाई नहीं की लेकिन पूर्व आईपीएल प्रमुख और ईडी के लिए वांछित ललित मोदी की मदद के लिए नियमों से हटकर काम किया।



आजाद ने यह भी कहा कि बागरोडिया ने साफ किया है कि जब उन्होंने सुषमा से अनुरोध के लिए संपर्क किया था तब उनके खिलाफ कोई मामला लंबित नहीं था। ललित मोदी और व्यापमं घोटाले को लेकर संसद में गतिरोध के बीच सुषमा ने कल कहा था कि एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने उन पर बागरोडिया को राजनयिक पासपोर्ट दिलाने के लिए दबाव डाला था।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज