Home /News /nation /

गुलाम नबी आजाद को मिला पद्म भूषण, सिब्बल ने किया कटाक्ष, कहा- कांग्रेस को उनकी सेवाओं की जरूरत नहीं

गुलाम नबी आजाद को मिला पद्म भूषण, सिब्बल ने किया कटाक्ष, कहा- कांग्रेस को उनकी सेवाओं की जरूरत नहीं

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. (फाइल फोटो: PTI)

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. (फाइल फोटो: PTI)

Padma Bhushan Ghulam Nabi Azad: कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने भी वरिष्ठ कांग्रेस नेता को इस मौके पर बधाई दी है. थरूर ने गुलाम नबीं आजाद के साथ एक पुरानी तस्वीर को दोबारा साझा किया. तिरुवनंतपुरम सांसद ने लिखा, 'श्री गुलाम नबी आजाद को उनके पद्म भूषण पर बहुत बधाई. जनसेवा के लिए दूसरे पक्ष की सरकार की तरफ से भी पहचाना जाना अच्छी बात है.'

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) को 73वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर मंगलवार को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. इस मौके पर कांग्रेस के एक अन्य नेता कपिल सिब्बल ने पार्टी पर ही कटाक्ष किया है. उन्होंने कहा कि यह विडंबना है कि कांग्रेस को आजाद की सेवाओं की जरूरत नहीं है. खास बात है कि कांग्रेस के दोनों वरिष्ठ नेता पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठा चुके हैं.

कांग्रेस नेतृत्व की लगातार आलोचना कर रहे G-23 समूह के नेता सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है. भाईजान बधाई हो. यह विडंबना है कि कांग्रेस को उनकी सेवाओं की जरूरत नहीं है, जबकि राष्ट्र उनके सार्वजनिक जीवन को मानता है.’ इसके अलावा कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी वरिष्ठ कांग्रेस नेता को इस मौके पर बधाई दी है.

थरूर ने गुलाम नबीं आजाद के साथ एक पुरानी तस्वीर को दोबारा साझा किया. तिरुवनंतपुरम सांसद ने लिखा, ‘श्री गुलाम नबी आजाद को उनके पद्म भूषण पर बहुत बधाई. जनसेवा के लिए दूसरे पक्ष की सरकार की तरफ से भी पहचाना जाना अच्छी बात है.’

यह भी पढ़ें: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : दागियों पर मची है रार, जानें सपा, बसपा और भाजपा ने अभी तक उतारे कितने दागी उम्मीदवार

हालांकि, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने आजाद की इस उपलब्धि पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य की तरफ से पुरस्कार को अस्वीकार किए जाने को लेकर कहा, ‘यह करने के लिए सही चीज थी. वे आजाद रहना चाहते थे, गुलाम नहीं.’ भट्टाचार्य को भी पद्म भूषण से सम्मानित करने का फैसला लिया गया था, लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया.

भाषा के अनुसार, माकपा के वरिष्ठ नेता बुद्धदेव भट्टाचार्य ने मंगलवार को पद्म भूषण सम्मान को अस्वीकार कर दिया. उन्होंने एक बयान में कहा, ‘मैं पद्म भूषण सम्मान के बारे में कुछ नहीं जानता. मुझे किसी ने इसके बारे में नहीं बताया. अगर मुझे पद्म भूषण सम्मान दिया गया है तो मैं इसे अस्वीकार कर रहा हूं.’ माकपा सूत्रों के अनुसार यह भट्टाचार्य के साथ ही पार्टी का भी फैसला है.

Tags: Ghulam nabi azad, Kapil sibal, Padma Bhushan award

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर