अपना शहर चुनें

States

जब अटल ने कहा था संजय गांधी के कारण पीएम बनी इंदिरा- गुलाम नबी आजाद ने सुनाई 41 साल पुरानी बात

 (PTI Photo/Arun Sharma)
(PTI Photo/Arun Sharma)

गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने साल 1980 में संसद की कार्यवाही का जिक्र करते हुए अटल बिहारी वाजपेयी, संजय गांधी और तात्कलीन पीएम इंदिरा गांधी से जुड़ा वाकया याद किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 10, 2021, 10:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राज्यसभा (Rajya Sabha) में नेता प्रतिपक्ष कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) अब सदन से लगभग रिटायर हो जाएंगे. आजाद, जम्मू और कश्मीर (Jammu & Kashmir) से राज्यसभा आते हैं. फिलहाल राज्य में कोई विधानसभा नहीं होने के चलते फिलहाल वहां से कोई राज्यसभा सदस्य नहीं चुना जा सकता है. ऐसे में इस बात की संभावना कम है कि आजाद अब फिर राज्यसभा में लौट पाएंगे. हालांकि मंगलवार को उच्च सदन में कई नेताओं ने यह कहा कि अभी आजाद फिर से लौट कर आ सकते हैं.

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने जिस कदर आजाद की प्रशंसा की और भावुक हुए, ऐसे में कांग्रेस में कई लोगों को यह तारीफ बुरी लग रही है. इस बाबत एक सवाल के जवाब में आजाद ने कहा कि मैं चाहूंगा कि पीएम उन लोगों की भी तारीफ करें. कांग्रेस बच्चों का दल नहीं है, जहां कोई मेरी तारीफ करे, खासतौर से पीएम तो वह बुरा मना जाएं. यह तो गौरव की बात है कि उनकी पार्टी के सदस्य की कोई प्रशंसा कर रहा है. आजाद ने कहा कि मुझे इस बात की बिल्कुल उम्मीद नहीं थी कि प्रधानमंत्री इतना भावुक हो जाएंगे. सभी दलों के नेताओं ने बोला. उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू और पीएम ने अपेक्षा से ज्यादा बोला.

इंडिया टुडे ने आजाद से हुई खास बातचीत के हवाले से कहा कि आज की राजनीति में गिरावट और बदलाव आ गया है. आज अगर कोई विपक्ष का नेता, सरकार के किसी नुमाइंदे से और सरकार का कोई विपक्ष से बात करे तो लोगों को लगता है कि सभी मिले हुए हैं. ऐसा नहीं है. 40 साल पहले जब नेता सदन में बोलते थे तो हम किसी शख्स के खिलाफ नहीं बल्कि नीतियों के खिलाफ बोलते थे.



क्या है 41 साल पुराना, अटल, संजय और इंदिरा से जुड़ा वाकया?
इस बातचीत में आजाद ने एक पुराना वाकया याद करते हुए बताया कि अटल बिहारी वाजपेयी ने संजय गांधी के बारे में कहा था. साल 1980 में संसद की कार्यवाही का जिक्र करते हुए गुलाम ने कहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा हो रही थी. तब संजय ने अटल की जमकर आलोचना की. अभिभाषण पर आखिरी भाषण इंदिरा गांधी का था और उससे पहले अटल का.

आजाद के मुताबिक, संजय सदन में अक्सर 2-3 मिनट ही बोलते थे लेकिन उस दिन 15 मिनट तक बोला. मैंने उनका कुर्ता खींच कर कहा कि जब अटल बोलेंगे तो वह धज्जियां उड़ा देंगे. जब अटल बोले तो पूरा सदन दंग रह गया. उन्होंने संजय की तारीफ से अपने भाषण की शुरुआत की. आजाद ने कहा, 'अटल जी ने इंदिरा गांधी से मुखातिब होते हुए कहा कि बीते चुनाव में हमने संजय को मुद्दा बनाया था. लेकिन उस वक्त संजय नेता नहीं थे. आज अगर आप प्रधानमंत्री हैं तो यह संजय गांधी और उनके कार्यकर्ताओं की वजह से.'

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री के अनुसार तब अटल ने सदन में कहा था, 'संजय ने गलियों-कूचों में हमसे लड़ाई लड़ी. लाठियां खाईं. आपके वरिष्ठ नेता भाग गए, लेकिन यह और इसके लोग डटे रहे और इसी वजह से आज आप पीएम हैं. आज संजय लीडर हैं तो मैं लीडर के खिलाफ कुछ नहीं कहूंगा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज