दुनियाभर में बढ़ रहे कोरोना के मामले, भारत में हालात बेहद विकट: WHO

WHO चीफ ने कहा कि कोरोना से जंग अभी आसान नहीं है. (फोटो साभार-News18 English)

WHO चीफ ने कहा कि कोरोना से जंग अभी आसान नहीं है. (फोटो साभार-News18 English)

संगठन के मुखिया टेडरॉस अधानोम (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने यह सुखद बात है कि कई इलाकों में कोरोना मामलों में थोड़ी कमी देखने को मिली है. लेकिन कई देशों में अब भी व्यापक प्रभाव है. भारत के हालत तो हृदय विदारक हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 5:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वैश्विक रूप से बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चिंता जाहिर की है. संगठन के मुखिया टेडरॉस अधानोम (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कहा है कि दुनियाभर में कोरोना मामले तेजी के साथ बढ़ रहे हैं. बीते 9 हफ्तों से लगातार कोरोना मामलों में वृद्धि हुई है और वहीं कोरोना की वजह से मौतें भी बढ़ी हैं. बीते सप्ताह इतने मामले सामने आए है जितने मामले बीते साल महामारी के शुरुआती पांच महीने में सामने आए थे.

उन्होंने कहा है कि यह सुखद बात है कि कई इलाकों में कोरोना मामलों में थोड़ी कमी देखने को मिली है. लेकिन कई देशों में अब भी व्यापक प्रभाव है. भारत के हालत तो हृदय विदारक हैं.

Youtube Video


महामारी से जंग आसान नहीं
इससे पहले उन्होंने कहा था कि अभी महामारी की जंग आसान नहीं है. इसपर जीत हासिल करने में अभी लंबा समय लग सकता है. वैक्‍सीनेशन के साथ ही मास्‍क और सोशल डिस्‍टेंसिंग ही महामारी से बचाव का एक मात्र उपाय है. विश्‍व स्‍तर पर बेहद तेज टीकाकरण जारी है. लेकिन इसके बावजूद कोविड से बचाव के लिए मास्‍क पहनना और सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना जरूरी है.

भारत में आए 3.5 लाख से ज्यादा केस

बता दें भारत में सोमवार को  COVID-19 के कारण 3.5 लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए हैं और 2,800 से अधिक मौतें दर्ज की हैं. देश में कोरोना वैक्‍सीन प्रोग्राम के तीसरे चरण के तहत 1 मई से 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्‍सीन की डोज देने की शुरुआत होगी. टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण से पहले कोरोना वैक्‍सीन की कीमत को लेकर हंगामा मचा हुआ है. कोरोना वैक्‍सीन पर नियंत्रण रखने के लिए केंद्र सरकार ने निजी अस्‍पतालों के लिए कई निर्देश जारी किए हैं. केंद्र ने राज्‍य सरकारों को बताया है कि कोरोना वैक्‍सीन उन्‍हीं प्राइवेट अस्‍पतालों को दी जाएगी, जो ऑनलाइन बुकिंग करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज