बाल दिवस कार्यक्रम में बोले पर्रिकर, 'हमने भी देखी हैं एडल्ट फिल्में'

आईएएनएस
Updated: November 15, 2017, 10:02 AM IST
बाल दिवस कार्यक्रम में बोले पर्रिकर, 'हमने भी देखी हैं एडल्ट फिल्में'
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार को बाल दिवस कार्यक्रम में अपने युवा समय में एडल्ट फिल्म देखने का अनुभव साझा किया
आईएएनएस
Updated: November 15, 2017, 10:02 AM IST
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार को बाल दिवस कार्यक्रम में अपने युवा समय में एडल्ट फिल्म देखने का अनुभव साझा किया.

'हम सिर्फ फिल्में नहीं देखते थे, एडल्ट फिल्में भी देखते थे'
कार्यक्रम में पहुंचे पर्रिकर से स्कूली बच्चों पूछा कि वो अपनी यंग एज में किस तरह की फिल्में देखते थे. इस पर पर्रिकर ने जवाब दिया, हम सिर्फ फिल्में नहीं देखते थे, हमने उस समय की एडल्ट फिल्में भी देखीं हैं. आज के समय में आप अब बहुत सी चीजें टीवी पर देख रहे हैं, जो पुराने समय में एडल्ट फिल्म में दिखाया जाता था.

भाई के साथ एडल्ट फिल्म देखने गए थे पर्रिकर

पर्रिकर ने कहा, एक लोकप्रिय एडल्ट फिल्म थी. मैं उस समय वयस्क था. मैं व मेरा भाई इसे देखने गए थे. इंटरवल के दौरान, जब लाइट जली तो मैंने एहसास किया कि मेरा पड़ोसी मेरे बगल में बैठा है. यह पड़ोसी अक्सर मेरी मां के साथ शाम को बात करता था. मैंने खुद से कहा, हम मारे गए.

पड़ोसी को देख सिनेमा हाल से भागे थे सीएम
मुख्यमंत्री ने कहा कि वह और उनका भाई अवधूत फिल्म बीच ही में छोड़कर सिनेमा हाल से भागे. घर जाते समय उन्होंने संकट से निपटने के लिए पहले से ही योजना बना ली थी.

खुद को बचाने के लिए मां से बोला झूठ 
उन्होंने कहा, जब हम घर पहुंचे तो मैंने अपनी मां से कहा कि हम फिल्म देखने गए थे और हम नहीं जानते थे कि फिल्म अश्लील है. हमने फिल्म बीच में ही छोड़ दी. मैंने बहुत ही सहज रूप से उन्हें बताया कि हमारे पड़ोसी भी वहां थे और मैं चुप हो गया.

मां ने लगाई पड़ोसी को फटकार
उन्होंने कहा, अगले रोज हमारे पड़ोसी ने बहुत उत्साहित होकर हमारी मां को बुलाया और कहा कि मनोहर व अवधूत वयस्क फिल्म देखने गए थे. मेरी मां ने उनसे कहा कि मैं जानती हूं कि वह कौन सी फिल्म देखने गए थे, लेकिन आप क्यों वह फिल्म देखने गए थे? आपको कुछ चीजें पहले से सोचनी होंगी.
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर