• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • GOA DIVORCE CASE RISE GOVT TO START PREMARITAL COUNSELLING

गोवा में महज 2-3 महीने में टूट रही हैं शादियां, तलाक को रोकने के लिए सरकार उठाएगी ये कदम

सांकेतिक फोटो.

Divorce in Goa: गोवा के कानून मंत्री नीलेश काब्रल ने बताया कि गोवा के चर्च में पहले से ही शादी को लेकर काउंसलिंग की जी रही है. लेकिन अब इसे दूसरे धर्म के लोगों तक भी पहुंचाया जाएगा.

  • Share this:
    पणजी. गोवा में तलाक (Divorce)  की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. कहा जा रहा है कि यहां महज 2 से 3 महीने में लोगों की शादियां टूट रही हैं. लिहाजा तलाक की बढ़ती घटना को रोकने के लिए सरकार ने शादी से पहले दंपति के कॉउंसलिंग कराने का फैसला किया है. इस बात की जनकारी गोवा के कानून मंत्री नीलेश काब्रल ने दी. उन्होंने कहा की रजिस्ट्रेशन और शादी से पहले 15 दिनों के अंदर दंपति को कॉउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा.

    अंग्रेजी अखबार 'इंडियन एक्सप्रेस' से बातचीत करते हुए गोवा के कानून मंत्री नीलेश काब्रल ने कहा, 'विवाह टूटना चिंता का विषय है. दो-चार महीने, एक साल या तीन साल में कई शादियां टूट हो रही हैं. हमारा डिपार्टमेंट इसको लेकर काफी परेशान है.' हालांकि शादी टूटने की संख्या कितनी है इसको लेकर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया.

    ये भी पढ़ें:- वैक्सीनेशन पर SC सख्त, कहा- सरकार जागे, उसे जमीनी हकीकत का हो अंदाजा

    काब्रल ने बताया कि गोवा के चर्च में पहले से ही शादी को लेकर काउंसलिंग की जी रही है. लेकिन अब इसे दूसरे धर्म के लोगों तक भी पहुंचाया जाएगा. उन्होंने आगे कहा, ' हमें उन्हें बताना चाहिए कि एक-दूसरे के प्रति उनका कर्तव्य क्या है, उनके बच्चों के प्रति उनके कर्तव्य और जिम्मेदारियां क्या हैं, उनके ससुराल वालों के प्रति उनके कर्तव्य क्या हैं. हमने एक छोटा कार्यक्रम बनाया है. काउंसलिग क्लास के बाद ही उन्हें मैरेज सर्टिफिकेट दिए जाएंगे.'

    बता दें कि साल 2011 में देश में तलाक के सबसे कम मामले गोवा में ही थे. गोवा के कानून मंत्री ने कहा, 'मेरे पास हर महीने तलाक के मामलों की सटीक संख्या नहीं है. पहले इतने मामले नहीं थे. संख्या अब बढ़ गई है। आज से 10 साल पहले हालात ऐसे नहीं थे. लेकिन हमें इसे रोकने की कोशिश करेंगे.'