Home /News /nation /

Goa Election: मंदिर, मस्जिद, चर्च में कांग्रेस के 36 प्रत्‍याशियों ने लिया संकल्‍प- '5 साल नहीं छोड़ेंगे पार्टी का साथ'

Goa Election: मंदिर, मस्जिद, चर्च में कांग्रेस के 36 प्रत्‍याशियों ने लिया संकल्‍प- '5 साल नहीं छोड़ेंगे पार्टी का साथ'

गोवा कांग्रेस के प्रत्‍याशियों ने ली शपथ. (Pic- Goa Congress)

गोवा कांग्रेस के प्रत्‍याशियों ने ली शपथ. (Pic- Goa Congress)

Goa Elections 2022: 2019 में चुनाव से पहले कांग्रेस के करीब 10 विधायकों ने पार्टी छोड़ दी थी और बीजेपी का दामन थाम लिया था. इसके बाद से ही कांग्रेस को विरोध का सामना करना पड़ रहा था. ऐसे में शनिवार को कांग्रेस के 36 प्रत्‍याशियों ने मंदिर, चर्च और मस्जिदों में जाकर संकल्‍प लिया कि इन चुनाव में समय और बाद में वे सभी पार्टी के प्रति ईमानदार रहेंगे.

अधिक पढ़ें ...

पणजी. गोवा (Goa) में 14 फरवरी को मतदान होना है. इसके लिए कांग्रेस, बीजेपी,आम आदमी पार्टी समेत कई दल पूरे जोर के साथ चुनाव मैदान (Goa Assembly Elections 2022) में कूद चुके हैं. इस बीच चुनाव से पहले कांग्रेस (Congress) ने गोवा के मतदाताओं को यह सुनिश्चित किया है इस बार साल 2019 की तरह दलबदल जैसी घटनाएं नहीं होंगी. इसके लिए शनिवार को कांग्रेस (Goa Congress) ने अपने नेताओं के साथ भगवान को साक्षी मानकर संकल्‍प लिया है.

2019 में चुनाव से पहले कांग्रेस के करीब 10 विधायकों ने पार्टी छोड़ दी थी और बीजेपी का दामन थाम लिया था. इसके बाद से ही कांग्रेस को विरोध का सामना करना पड़ रहा था. ऐसे में शनिवार को कांग्रेस के 36 प्रत्‍याशियों ने मंदिर, चर्च और मस्जिदों में जाकर संकल्‍प लिया कि इन चुनाव में समय और बाद में वे सभी पार्टी के प्रति ईमानदार रहेंगे.

पणजी में महालक्ष्मी मंदिर और कोंकणी में बंबोलिम क्रॉस में पुजारियों के साथ हाथ जोड़कर खड़े होकर चुनाव उम्मीदवारों ने दोहराया कि चुनाव जीतने के बाद वे अगले पांच वर्षों तक कांग्रेस पार्टी के साथ रहेंगे. उम्मीदवारों ने शपथ लेते हुए कहा, ‘देवी महालक्ष्मी के चरणों में हम सभी 36 लोग शपथ लेते हैं कि हम कांग्रेस पार्टी के प्रति वफादार रहेंगे, जिसने हमें टिकट दिया है. इसी तरह की शपथ उन्हें बम्बोलिम क्रॉस के एक पुजारी ने दिलाई थी. बाद में उनमें से 34 पुरुष उम्मीदवारों ने बेटिम की एक मस्जिद में चादर चढ़ाई थी.

बता दें कि एडीआर की एक रिपोर्ट के अनुसार गोवा में बीते पांच साल में लगभग 24 विधायकों ने एक पार्टी छोड़कर दूसरी पार्टी का दामन थामा है, जो 40 सदस्यीय राज्य विधानसभा में विधायकों की कुल संख्या का 60 प्रतिशत है. एडीआर ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि इस मामले में गोवा ने एक विचित्र रिकॉर्ड कायम किया है, जिसकी भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में कोई दूसरी मिसाल नहीं मिलती.

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस विधायक दल के नेता दिगंबर कामत ने शनिवार को कहा कि गोवा के लोग सांप्रदायिक सद्भाव के लिए जाने जाते हैं. महालक्ष्मी के सामने हमने संकल्प लिया है कि हम पांच साल तक साथ रहेंगे. 36 लोग आए हैं. उन्होंने महालक्ष्मी और बम्बोलिम क्रॉस के सामने शपथ ली है, जो कि कैथोलिक समुदाय के लिए बहुत शक्तिशाली पूजा स्थल माना जाता है. हम इसे लेकर बहुत गंभीर हैं और किसी भी पार्टी को हमारे विधायकों को खरीदने की अनुमति नहीं देंगे. हम भगवान से डरने वाले लोग हैं। हमें परमात्मा पर पूरा भरोसा है. इसलिए, आज हमने संकल्प लिया है कि हम दोष नहीं देंगे.

Tags: Assembly elections, Goa Assembly Election 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर