मुख्यमंत्री की टिप्पणी से नाराज गोवा के निर्दलीय विधायक ने सरकार से समर्थन वापस लिया

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने गाओनकर पर भूमि सौदे में लिप्त होने के आरोप लगाए थे (फाइल फोटो)
मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने गाओनकर पर भूमि सौदे में लिप्त होने के आरोप लगाए थे (फाइल फोटो)

Goa News: मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (CM Pramod Sawant) ने सोमवार को आरोप लगाया था कि राज्य में प्रस्तावित आईआईटी परियोजना (IIT Project) के लिए भूमि सौदे में गाओनकर संलिप्त थे. जिससे नाराज होकर गाओनकर ने समर्थन वापस ले लिया है.

  • Share this:
पणजी. गोवा (Goa) के निर्दलीय विधायक प्रसाद गाओनकर (Prasad Gaonkar) ने बुधवार को राज्य में प्रमोद सावंत (Pramod Sawant) के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार (Bharatiya Janta Party's Government) से अपना समर्थन वापस ले लिया. इससे कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री ने गाओनकर पर भूमि सौदे (Land Deal) में लिप्त होने के आरोप लगाए थे. सांगुएम विधानसभा क्षेत्र (Sanguem Assembly Constituency) का प्रतिनिधित्व करने वाले गाओनकर ने समर्थन वापसी का एक पत्र राज्य के राज्यपाल को सौंपा. इसके साथ ही 40 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ खेमे के विधायकों की संख्या 30 से घटकर 29 हो गयी है.

गोवा विधानसभा के सत्तारूढ़ खेमे में अब 27 भाजपा के विधायक हैं जबकि दो अन्य राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) के चुरचिल अलेमाओ (Churchill Alemao) और निर्दलीय विधायक गोविंद गौडे (Govind Gaude) हैं. विपक्ष में अब 11 विधायक हैं. इनमें कांग्रेस (Congress) के पांच, गोवा फारवर्ड पार्टी (Goa Forward Party)) के तीन और दो निर्दलीय गाओनकर और रोहन खौंटे तथा महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (Maharashtrawadi Gomantak Party) के एक विधायक हैं.

ये भी पढ़ें- अब कोरोना वायरस को खत्‍म करेगा ये खास AC! वायरस डी-एक्टिवेशन टेक्‍नोलॉजी का किया है इस्‍तेमाल



राज्यपाल को पत्र सौंपने के बाद गाओनकर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैंने प्रमोद सावंत के नेतृत्व वाली सरकार से अपना समर्थन वापस लेने के बारे में राज्यपाल को पत्र सौंप दिया है.’’
मुख्यमंत्री ने लगाया था आरोप
मुख्यमंत्री ने सोमवार को आरोप लगाया था कि राज्य में प्रस्तावित आईआईटी परियोजना (IIT Project) के लिए भूमि सौदे में गाओनकर संलिप्त थे. सावंत ने कहा था कि गाओनकर सांगुएम में आईआईटी परियोजना के लिए जमीन हासिल करने के नाम पर सौदेबाजी कर रहे थे. पहले यह परियोजना सांगुएम में शुरू होने वाली थी लेकिन जमीन नहीं मिल पाने के बाद यह परियोजना सत्तारी में चली गयी.

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र और पंजाब के बाद बंगाल में BJP को झटका, बिमल गुरुंग NDA से हुए अलग

विधायक ने सरकार का पर्दाफाश करने का किया दावा
आरोपों पर प्रतिक्रिया जताते हुए गाओनकर ने कहा, "मुख्यमंत्री मेरे खिलाफ आरोपों को साबित करें. जिस तरह से वह मेरे खिलाफ बयान दे रहे थे, वह मेरे लिए हैरान करने वाला था."

गाओनकर ने कहा कि प्रमोद सावंत के प्रति उनका भरोसा खत्म हो गया है, इसलिए वह समर्थन वापस ले रहे हैं. विधायक ने कहा कि वह आने वाले दिनों में भाजपा सरकार का पर्दाफाश करेंगे और उसकी नाकामियों को उजागर करेंगे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज