Home /News /nation /

छत्तीसगढ़ की राह पर चलेगी केंद्र सरकार! गोधन न्याय योजना की तर्ज पर किसानों से गोबर खरीदने की हुई सिफारिश

छत्तीसगढ़ की राह पर चलेगी केंद्र सरकार! गोधन न्याय योजना की तर्ज पर किसानों से गोबर खरीदने की हुई सिफारिश

किसानों से गायों का गोबर खरीदने की सिफारिश

किसानों से गायों का गोबर खरीदने की सिफारिश

कृषि मामलों की एक स्थायी समिति ने केंद्र सरकार से सिफारिश की है कि वह किसानों से गोबर खरीदने की योजना शुरू करे. रिपोर्ट में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार द्वारा शुरू किये गये गोधन न्याय योजना का उदाहरण भी दिया गया है.

    नई दिल्ली. कृषि मामलों की एक स्थायी समिति ने केंद्र सरकार से सिफारिश की है कि वह किसानों से गोबर खरीदने की योजना शुरू करे. लोकसभा (Loksabha) में पेश की गई इस रिपोर्ट में कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ सरकार की गोधन न्याय योजना का भी जिक्र किया गया है. गोधन न्याय योजना (Godhan Nyay Yojna) के अंतर्गत कांग्रेस सरकार गाय के गोबर किसानों से एक तय कीमत पर खरीदती है.

    2021-22 के लिए कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग की अनुदानों की मांगों की जांच करते हुए रिपोर्ट में कहा गया है, 'समिति का मानना है कि किसानों से सीधे गोबर की खरीद से ना केवल उनकी आय में वृद्धि होगी बल्कि रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे. साथ ही छुट्टा पशुओं की समस्या का भी निदान हो सकेगा और देश में जैविक खेती को बढ़ावा मिलने में आसानी होगी.'

    सिफारिश में क्या कहा गया है?
    लोकसभा में पेश रिपोर्ट में कहा गया है कि समिति पशुपालन और डेयरी विभाग के समन्वय में किसानों से मवेशियों के गोबर की खरीद के लिए एक योजना शुरू करने की सिफारिश करती है. छत्तीसगढ़ योजना का जिक्र करते हुए बताया गया है कि राज्य में 2 रुपये प्रति किग्रा खरीदते हैं. इसे वर्मीकम्पोस्ट में प्रॉसेसिंग के बाद वापस 8 रुपये प्रति किलोग्राम पर बेचते हैं..



    इन सिफारिशों से पहले भाजपा सांसद पार्वतगौड़ा चंदनगौड़ा गद्दीगौदर की अध्यक्षता वाली समिति ने कृषि मंत्रालय के अधिकारियों से किसानों से गोबर खरीदने के लिए एक योजना शुरू करने के लिए कहा था.

    रिपोर्ट में कृषि मंत्रालय द्वारा सरेंडर की गई बड़ी राशि की ओर इशारा किया गया है जो योजनाओं के 'कार्यान्वयन पर प्रतिकूल प्रभाव' डाल सकता है. रिपोर्ट में कहा गया है  'समिति ने ध्यान पाया कि विभाग ने साल 2019-20 और साल 2020-21 के दौरान क्रमशः  34,517.70 करोड़ रुपये और 17,849.89 करोड़ रुपये (अस्थायी) की राशि सरेंडर कर दी है. धन की इतनी बड़ी मात्रा योजनाओं के कार्यान्वयन पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगी.'undefined

    Tags: Bhupesh Baghel, Chhattisagrh news, Cow, Cow and crops

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर