• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पाल पोसकर 46 फीट ऊंचा किया गुलाब का पौधा, अब इंश्योरेंस कराने की कोशिश में प्रोफेसर

पाल पोसकर 46 फीट ऊंचा किया गुलाब का पौधा, अब इंश्योरेंस कराने की कोशिश में प्रोफेसर

यह गुलाब का पौधा 46 फुट ऊंचा हो चुका है (फोटो क्रेडिट- अरुणसिंह सोलंकी, फेसबुक)

यह गुलाब का पौधा 46 फुट ऊंचा हो चुका है (फोटो क्रेडिट- अरुणसिंह सोलंकी, फेसबुक)

दुर्लभ और फूलों के खजाने से प्रसिद्धि पाने वाले गोधरा (Godhra) के प्रोफेसर अरुणसिंह सोलंकी ने 2019 में अपने पौधे को राष्ट्रीय रिकॉर्ड बुक (National Record Book) में शामिल किये जाने के लिए आवेदन भेजा था.

  • Share this:
    वडोदरा. भविष्य में किसी अनचाही घटना से बचने की आशंका से बचने के लिए गोधरा (Godhra) में एक प्रोफेसर ने अपने बेशकीमती चीज को बचाने के लिए सभी जोखिमों का हिसाब लगा रहे हैं. यह बेशकीमती चीज है, उनका एक गुलाब का पौधा (Rose Plant). जो 46 फीट लंबा हो चुका है और अब भी बढ़ता जा रहा है. इसके लिए अरुणसिंह सोलंकी नाम के इस प्रोफेसर अपने गुलाब के पौधे के लिए एक बीमा कवर (Insurance Cover) ढूंढ़ने में लगे हुए हैं, जिसका पोषण उन्होंने 2006 के बाद से ही अपने घर के परिसर में लगे एक पौधे (Plant) के रूप में किया है.

    अपने दुर्लभ और फूलों के खजाने से प्रसिद्धि पाने वाले सोलंकी ने 2019 में अपने पौधे को एक प्रमुख राष्ट्रीय रिकॉर्ड बुक (National Record Book) में शामिल किये जाने के लिए आवेदन भेजा था. उस समय पौधे की ऊंचाई 39 फीट थी. इसे इस महीने की शुरूआत में देश के सबसे लंबे गुलाब के पौधे (Tallest Rose Plant) का प्रमाण पत्र तब दिया गया, जब यह 7 फीट लंबा हो कर 46 फुट का हो गया.

    एक राष्ट्रीयकृत बीमा कंपनी से पौधे के बीमा को लेकर चल रही है बात
    अकाउंटेंसी पढ़ाने वाले सोलंकी ने कहा कि वे पहले ही पौधे का बीमा कराने के लिए एक राष्ट्रीयकृत सामान्य बीमा कंपनी से संपर्क कर चुके हैं. सोलंकी ने कहा, "उन्होंने बताया है कि वे अपने उच्च-अधिकारियों से इस पर बात करेंगे और वापस मुझे बताएंगे." उन्होंने बताया कि पौधे को देखने के लिए कई लोग उनके घर आते हैं और वह इसे असुरक्षित नहीं छोड़ना चाहते हैं.

    गिनीज बुक में नाम दर्ज कराने के लिए जल्द ही करने वाले हैं अधिकारियों से संपर्क
    मार्च में गुलाब के पौधे की हर डाल पर लगभग 20 से 35 फूल होते हैं. सोलंकी ने बताया, "वे (फूल) रंग में गुलाबी हैं और उनमें हल्की खुशबू होती है." प्रोफेसर सोलंकी गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी प्रवेश पाने की योजना भी बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि वे जल्द ही इसके लिए अधिकारियों से संपर्क करेंगे.

    यह भी पढ़ें: अनलॉक 1 में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण, रोजाना आ रहे हैं इतने केस

    पेड़ का भार बढ़ते जाने के बाद सोलंकी ने एक सीधा स्टील का सपोर्ट (Steel support) अपनी छत पर लगा दिया है क्योंकि वे पौधे को किसी सहारे की कमी होने के चलते बढ़ने से रोकना नहीं चाहते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन