सोने की तस्करी पर भी लगेगा UAPA? दो हाईकोर्ट की राय जुदा, अब सुप्रीम कोर्ट करेगा फैसला

सुप्रीम कोर्ट में केरल हाईकोर्ट की तरफ से 18 फरवरी 2021 को सुनाए गए जमानत आदेश को चुनौती दी गई थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

Gold smuggling case: केरल हाईकोर्ट ने सोना तस्करी मामले में 12 आरोपियों को जमानत देते हुए कहा था कि अपराध कस्टम एक्ट के तहत आता है UAPA के तहत नहीं. वहीं, राजस्थान हाईकोर्ट ने UAPA की बात को स्वीकारा था. अब NIA की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट विचार करेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केरल सोना तस्करी मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) की याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया है. इस याचिका में NIA ने 12 आरोपियों को मिले जमानत आदेश रद्द करने की मांग की थी. हालांकि, इस दौरान सुप्रीम कोर्ट मामले में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम, 1967 (UAPA) के एंगल पर विचार करने के लिए तैयार हो गया है. केरल हाईकोर्ट ने आरोपियों को जमानत दी थी और कहा था कि अपराध कस्टम एक्ट के तहत आता है  UAPA के नहीं. वहीं, राजस्थान हाईकोर्ट ने UAPA की बात को स्वीकारा था.

    सुप्रीम कोर्ट में केरल हाईकोर्ट की तरफ से 18 फरवरी 2021 को सुनाए गए जमानत आदेश को चुनौती दी गई थी. अपने आदेश में हाईकोर्ट ने कहा था कि, 'केवल अवैध लाभ के मकसद से की गई सोना तस्करी' UA(P) कानून की धारा 15(1)(a)(iiia) के तहत नहीं आ सकती. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमन्ना, जस्टिस एएस बोपन्ना और जस्टिस हृषिकेश रॉय की पीठ ने कहा, 'वे सभी सरकार के कर्मचारी हैं. हम जमानत रद्द करने के पहलू में नहीं जाएंगे. यदि आप चाहें तो हम कानूनी प्रश्न को खुला छोड़ सकते हैं.’

    जमानत देने के दौरान हाईकोर्ट ने NIA कोर्ट की प्राप्तियों पर भी भरोसा किया था, जिसमें कहा गया था कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि कथित तस्करी से मिली रकम का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों में हुआ था. जांच एजेंसी की तरफ से अदालत में पहुंचे एडीशनल सॉलिसिटर जनरल केएम नटराज ने राजस्थान हाईकोर्ट की तरफ से सुनाए गए फैसले का जिक्र किया, जिसमें हाईकोर्ट ने कहा था कि सोना तस्करी के मामलों में UAPA भी लगाया जा सकता है. साथ ही शीर्ष अदालत ने इस फैसले के खिलाफ लंबित अपील पर एक नोटिस जारी कर दिया था.

    बीते साल तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 14.82 करोड़ रुपये की कीमत का 24 कैरेट का 30 किलो सोना जब्त हुआ था. कथित रूप से सोने की इस खेप को संयुक्त अरब अमीरात की तरफ से भेजे गए राजनयिक सामान में छिपाया गया था. बाद में NIA और प्रवर्तन निदेशालय ने जांच अपने हाथों में ली. इस दौरान राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के प्रमुख सचिव एम शिवशंकर, पूर्व यूएई कॉन्स्युलेट एम्प्लाई स्वप्ना सुरेश समेत कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.