• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • GOOD NEWS COVID MONOCLONAL ANTIBODY SUCCESSFULLY USED IN TWO PATIENTS FAST RECOVERY

Good News : एंटीबॉडी कॉकटेल का कोरोना मरीजों पर इस्तेमाल, दिखी फास्ट रिकवरी

एंटीबॉडी कॉकटेल का इस्तेमाल कारगर रहा है. (सांकेतिक तस्वीर)

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल (Sir Gangaram Hospital) में एंटीबॉडी कॉकटेल का इस्तेमाल दो मरीजों पर किया गया है. अस्पताल के मुताबिक अच्छी रिकवरी दिखी है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल (Sir Gangaram Hospital) ने बताया है कि उसने दो कोरोना मरीजों पर मोनोक्लोनल एंटीबॉडी (Monoclonal Antibody) का इस्तेमाल किया है. इसे एंटीबॉडी कॉकटेल भी कहा जाता है. अस्पताल द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इस दवा के इस्तेमाल के बाद शुरुआती सात दिनों में मरीजों में अच्छी रिकवरी दिखी जिसकी वजह से आखिरी नतीजे भी सकारात्मक रहे हैं.

    अस्पताल ने बताया, '36 साल के एक हेल्थकेयर वर्कर को तेज बुखार, कफ, जबरदस्त कमजोरी समेत अन्य कई दिक्कतें सामने आ रही थीं. उसे बीमारी के छठे दिन REGCov2 (CASIRIVIMAB Plus IMDEVIMAB) दवा दी गई. मरीज की हालत अगले 12 घंटे के भीतर ही सुधर गई. अगले दिन उसे डिस्चार्ज कर दिया गया.'

    एक सप्ताह पहले आई थी ट्रायल की खबर
    करीब एक सप्ताह पहले खबर आई थी कि गंगाराम अस्पताल ने मोनोक्लोनल एंटीबॉडी थेरेपी के ट्रायल की शुरुआत कर दी है. अस्पताल के चेयरमैन डीएस राना ने कहा था कि इस सिंगल डोज दवा की कीमत 59,750 रुपये होगी. इस कॉकटेल के तहत Casirivimab and Imdevimab दवा दी जाएगी. कहा जा रहा है कि इस दवा के इस्तेमाल से कोरोना मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने का रिस्क 70 फीसदी तक कम हो जाता है.

    दवा कंपनी रोश इंडिया और सिप्ला ने की थी घोषणा
    मई महीने के आखिरी में दवा कंपनी रोश इंडिया और सिप्ला ने भारत में रोश के एंटीबॉडी कॉकटेल को पेश करने की घोषणा की थी. सिप्ला और रोश ने एक संयुक्त बयान में कहा था, ‘एंटीबॉडी कॉकटेल (कैसिरिविमैब और इमदेविमाब) की पहली खेप भारत में उपलब्ध है, जबकि दूसरी खेप जून के मध्य तक उपलब्ध होगी. कुल मिलाकर इन खुराकों से दो लाख रोगियों का इलाज किया जा सकता है.'
    Published by:Arun Tiwari
    First published: