Home /News /nation /

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम से मिली सिफारिश मानी, राष्ट्रपति को भेजे गए 9 न्यायाधीशों के नाम- रिपोर्ट

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम से मिली सिफारिश मानी, राष्ट्रपति को भेजे गए 9 न्यायाधीशों के नाम- रिपोर्ट

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 9 नामों की सिफारिश की थी. (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 9 नामों की सिफारिश की थी. (फाइल फोटो)

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमण की अध्यक्षता वाले सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम ने शीर्ष अदालत में न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति के लिए नौ नामों की सिफारिश की है.

    नई दिल्ली. केंद्र (Central Government) ने शीर्ष अदालत (Supreme Court) में नियुक्ति के लिए सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम (Supreme Court Collegium) द्वारा अनुशंसित सभी नौ नामों को मंजूरी दे दी है.सुप्रीम कोर्ट में फिलहाल 35 न्यायाधीशों के मुकाबले सिर्फ 24 जज हैं. 9 नए नामों को स्वीकृति मिलने के बाद यह संख्या 33 हो जाएगी. अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार सूत्रों ने बताया कि सिफारिशों को ‘नियुक्ति के आदेश जारी करने के लिए सिफारिशें राष्ट्रपति को फॉरवर्ड की गई हैं.’ सूत्रों ने कहा, ‘अगर सब कुछ ठीक रहा, तो सुप्रीम कोर्ट अगले हफ्ते की शुरुआत में पूरी संख्याबल के करीब पहुंच सकता है.’

    चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमण, जज जस्टिस यू यू ललित, जज जस्टिस ए एम खानविलकर, जज जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जज जस्टिस एल नागेश्वर की कॉलेजियम ने 17 अगस्त को शीर्ष अदालत के लिए हाईकोर्ट्स के आठ न्यायाधीशों और एक वकील सहित नौ नामों की सिफारिश की थी.

    9 में से तीन लोग बन सकते हैं चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया
    सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम ने जिन नौ न्यायाधीशों के नामों की सिफारिश सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीश पद पर नियुक्ति के लिए की है, उनमें से तीन भविष्य में चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन सकेंगे. फरवरी 2027 में सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस सूर्यकांत के सेवानिवृत्त होने पर जज जस्टिस विक्रम नाथ चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन जाएंगे. इसके बाद जज जस्टिस बी वी नागरत्ना, जज जस्टिस नाथ की जगह लेंगी, जो कि भारत की पहली महिला चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन जाएंगी. न्यायपालिका के प्रमुख के रूप में उनका कार्यकाल एक महीने से अधिक का होगा.

    इन नामों की भी हुई सिफारिश
    केंद्र की मंजूरी मिलने के परिदृश्य में, वरिष्ठ वकील पी एस नरसिम्हा चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के रूप में जज जस्टिस नागरत्ना की जगह लेंगे और उनका कार्यकाल छह महीने से अधिक का होगा.

    सुप्रीम कोर्ट में पदोन्नति के लिए दिए गए नामों में जज जस्टिस अभय श्रीनिवास ओका (कर्नाटक हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस), जज जस्टिस जितेंद्र कुमार माहेश्वरी (सिक्किम हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस), जज जस्टिस सी टी रवि कुमार (केरल हाईकोर्ट) और जज जस्टिस एम एम सुंदरेश (केरल हाईकोर्ट) शामिल हैं. इसके साथ ही इनमें तेलंगाना हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस हिमा कोहली और गुजरात हाईकोर्ट की जज जस्टिस बेला त्रिवेदी के नाम की भी सिफारिश की गई है.

    Tags: Supreme Court

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर