सरकार का मास्टरप्लान, इस खास तकनीक से रोकी जाएंगी गाड़ियों की चोरियां

सरकार का प्लान है कि देश में वाहन अब अदृश्य माइक्रोडॉट्स के साथ आएंगे. इससे उन्हें चोरी से बचाने एवं फर्जी कल-पुर्जों के इस्तेमाल पर रोक लगाने में मदद मिलेगी.

News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 11:04 PM IST
सरकार का मास्टरप्लान, इस खास तकनीक से रोकी जाएंगी गाड़ियों की चोरियां
माइक्रोडॉट तकनीक से रोकी जाएगी वाहनों की चोरी (प्रतीकात्मक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 11:04 PM IST
गाड़ियों की चोरी खत्म करने के लिए सरकार ने एक जबरदस्त कदम उठाया है. इसके लागू हो जाने के बाद से गाड़ियों की चोरी में भारी कमी आने के आसार हैं. दरअसल सरकार का प्लान है कि देश में वाहन अब अदृश्य माइक्रोडॉट्स के साथ आएंगे. इससे उन्हें चोरी से बचाने एवं फर्जी कल-पुर्जों के इस्तेमाल पर रोक लगाने में मदद मिलेगी.

मोटर वाहन नियमों में संशोधन के लिए सरकार की ओर से सोमवार को जारी मसौदा अधिसूचना में इस नई तकनीक को अपनाने की बात कही गयी है.

केवल पराबैंगनी प्रकाश या सूक्ष्मदर्शी की सहायता से ही देखा जा सकेगा यह नंबर
मंत्रालय ने एक बयान में कहा है, 'केंद्रीय मोटर वाहन नियम में संशोधन को सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से जारी मसौदा अधिसूचना जीएसआर 521 (ई) के तहत वाहन, उनके कल-पुर्जों पर लगभग अदृश्य माइक्रोडॉट लगाने की बात है. इन सूक्ष्म बिन्दुओं को नग्न आंखों से नहीं देखा जा सकेगा. उसके लिए सूक्ष्मदर्शी या पराबैंगनी प्रकाश स्रोत की जरूरत होगी.'

कैसे काम करती है यह तकनीक?
माइक्रोडॉट तकनीक के तहत वाहन के कल-पुर्जों या किसी भी मशीन पर बिल्कुल छोटे बिन्दु स्प्रे किये जाते हैं. यह अनूठी पहचान प्रदान करता है.

इस प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से वाहन चोरी पर नजर रखने में मदद मिलेगी. इसके साथ ही नकली कलपुर्जों का इस्तेमाल होने से भी बचा जा सकेगा. मंत्रालय ने इस मसौदा अधिसूचना पर 30 दिन के भीतर संबद्ध पक्षों से सुझाव एवं आपत्तियां आमंत्रित की हैं.
Loading...

अगर यह तकनीक प्रयोग में आ जाती है तो वह दिन दूर नहीं जब वाहन चोर किसी वाहन को चुराने से घबराएंगे क्योंकि उनका पकड़ा जाना बहुत आसान होगा. वाहन चोर किसी वाहन को कितने भी एहतियात से बेचें उनका पकड़ा जाना इस तकनीक के चलते बहुत आसान हो जाएगा.

यह भी पढ़ें: ये हैं टॉप 5 डीजल कार जो पीती हैं कम तेल
First published: July 29, 2019, 11:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...