भारतीय वायुसेना की ताकत बनेगी आकश मिसाइल, पाक-चीन को लगता है डर

News18Hindi
Updated: September 6, 2019, 6:23 AM IST
भारतीय वायुसेना की ताकत बनेगी आकश मिसाइल, पाक-चीन को लगता है डर
केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने भारतीय वायुसेना और ज्यादा ताकतवर बनाने के लिए करीब 5000 करोड़ रुपये की आकाश मिसाइल परियोजना को हरी झंडी दे दी है.

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) ने भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) और ज्यादा ताकतवर बनाने के लिए करीब 5000 करोड़ रुपये की आकाश मिसाइल परियोजना को हरी झंडी दे दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 6, 2019, 6:23 AM IST
  • Share this:
केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) ने भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) और ज्यादा ताकतवर बनाने के लिए करीब 5000 करोड़ रुपये की आकाश मिसाइल परियोजना को हरी झंडी दे दी है. हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में संपन्न हुई सुरक्षा संबंधी एक महत्वपूर्ण कैबिनेट बैठक में इस प्रोजेक्ट के लिए मंजूरी दे दी गई. रक्षा मंत्रालय की ओर से गुरुवार को ये जानकारी भारतीय वायुसेना को दी गई.

सरकार ने दुश्मनों के लड़ाकू विमानों (Fighter Planes) को ढेर कर देने वाले छह स्क्वाड्रन स्वदेशी आकाश एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम (Akash Air Defence Missile System) की खरीद को स्वीकृति दी है. सूत्रों के मुताबिक आकाश मिसाइल को खरीदने का यह प्रस्ताव तीन साल पहले सरकार के सामने रखा गया था जिसे अब सरकार की ओर से मंजूरी मिल गई है.

पाकिस्तान और चीन सीमा पर होगी तैनाती
सरकार के इस फैसले के बाद भारतीय वायुसेना के पास आकाश मिसाइल की संख्या बढ़कर 15 हो जाएगी. इन मिसाइलों को पाकिस्तान (Pakistan) और चीन (China) की सीमा पर तैनात किया जाएगा. इंडियन एयरफोर्स ने शुरुआत में दो स्क्वाड्रन की ही मांग की थी लेकिन इस मिसाइल की दक्षता को देखते हुए इसकी संख्या में इज़ाफा कर दिया गया है.

बाकी विदेशी मिसाइलों के आगे दमदार है आकाश
साल 2018 में सूर्या लंका युद्धाभ्यास के दौरान इज़रायली मिसाइल और अन्य मिसाइलों के साथ भारतीय वायुसेना ने आकाश का भी परीक्षण किया था. इनमें आकाश का प्रदर्शन बेहतरीन साबित हुआ था. इसी के चलते रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) ने अन्य विदेशी मिसाइलों के मुकाबले इस मिसाइल को तरजीह देते हुए इसे हरी झंडी दिखा दी. यही नहीं मोदी सरकार ने आकाश मिसाइल के पक्ष में सेना का 17000 करोड़ रुपये का टेंडर खत्म कर दिया है.

पाकिस्तान को मिलेगा मुंहतोड़ जवाब
Loading...

इसी साल 27 फरवरी को बालाकोट (Balakot) में भारतीय वायुसेना द्वारा जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammad) के ठिकानों पर की गई एयरस्ट्राइक (Airstrike) के बाद वायुसेना की ओर से इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई थी. आकाश मिसाइल सिस्टम आ जाने के बाद अगर भविष्य में पाकिस्तान ऐसी कोई भी हिमाकत करने की कोशिश भी करेगा तो उसे आसमान के साथ-साथ जमीन पर भी मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें-
भारत अमेरिका से 10 नये P8i टोही विमान खरीदेगा, समुद्री निगरानी होगी पैनी

किस सीक्रेट जगह रखता है पाकिस्तान अपने परमाणु हथियार?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 6:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...