Home /News /nation /

सरकार की दो टूक, अनुच्छेद-370 और 35A में किसी विदेशी को हस्तक्षेप का अधिकार नहीं

सरकार की दो टूक, अनुच्छेद-370 और 35A में किसी विदेशी को हस्तक्षेप का अधिकार नहीं

सरकार ने कश्मीर में अनुच्छेद-370 को लेकर अपना रुख फिर से साफ किया है (सांकेतिक तस्वीर)

सरकार ने कश्मीर में अनुच्छेद-370 को लेकर अपना रुख फिर से साफ किया है (सांकेतिक तस्वीर)

सरकार ने संसद में कहा कि किसी भी विदेशी सरकार या संस्था को जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 हटाए जाने पर हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है. यह भारत के संविधान से जुड़ा मसला है. इस पर कोई भी निर्णय केवल भारतीय संसद ले सकती है.

    सरकार ने संसद में कहा है कि किसी भी विदेशी सरकार या संस्था को जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 हटाए जाने पर हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है. यह भारत के संविधान से जुड़ा मसला है. इस पर कोई भी निर्णय केवल भारतीय संसद ले सकती है. गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने राज्यसभा को दिए एक लिखित जवाब में कहा कि 'जम्मू और कश्मीर भारत का एक अभिन्न अंग है.'

    केवल भारतीय संसद ले सकती है जम्मू-कश्मीर पर फैसला
    रेड्डी इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 और अनुच्छेद-35A हटाना किसी भी तरह से संयुक्त राष्ट्र के किसी नियम या देश के किसी अंतरराष्ट्रीय कर्तव्य का उल्लंघन है. इस पर गृह राज्यमंत्री रेड्डी ने कहा, जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है. किसी भी विदेशी सरकार या संस्था को जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 हटाए जाने पर हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है. यह भारत के संविधान से जुड़ा मसला है. इस पर कोई भी निर्णय केवल भारतीय संसद ले सकती है.

    शाह भी अनुच्छेद-370 को बता चुके हैं अस्थायी प्रावधान
    इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने भी अनुच्छेद-370 को संविधान का एक 'अस्थायी प्रावधान' बताया था. ये दो अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर विधानसभा को राज्य के स्थायी नागरिकों की पहचान में भी मदद करते हैं. साथ ही ये राज्य को गैर जम्मू-कश्मीर नागरिकों को यहां पर प्रॉपर्टी खरीदने और नागरिकों को जॉब में आरक्षण देने में भी मदद करते हैं.

    पुलवामा के बाद 93 आतंकियों को ढेर कर चुके हैं सुरक्षाबल
    एक अलग सवाल का जवाब देते हुए, रेड्डी ने कहा कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद, तब से अभी तक भारतीय सुरक्षाबलों ने 93 आतंकियों को जम्मू-कश्मीर में मार गिराया है. 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवानों की मौत एक कार बम के जरिए किए गए आतंकी हमले में हो गई थी. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी.

    यह भी पढ़ें: देश के हर गांव की तस्वीर बदल देगा मोदी सरकार का ये कदम

    Tags: Amit shah, Article 35A, Home ministry, Jammu and kashmir, Kashmir, United nations

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर