लाइव टीवी

सरकार ने बनाया सैन्य मामलों का नया विभाग, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ होंगे प्रमुख

भाषा
Updated: December 31, 2019, 5:29 PM IST
सरकार ने बनाया सैन्य मामलों का नया विभाग, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ होंगे प्रमुख
सेना प्रमुख रहे जनरल बिपिन रावत ने मंगलवार को ही देश के पहले सीडीएस का पदभार ग्रहण किया है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने भारत सरकार (कामकाज का आवंटन) नियमावली, 1961 में बदलाव को मंजूरी दे दी. इसके बाद विभाग का गठन किया गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) में सैन्य मामलों का एक नया विभाग बनाया है. नवनियुक्त चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (Chief of Defence Staff) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) इसके प्रमुख होंगे. केंद्र सरकार की ओर से मंगलवार को जारी एक आदेश में यह जानकारी दी गई. थल सेना प्रमुख (Indian Army Chief) के रूप में तीन साल का कार्यकाल पूरा कर चुके जनरल रावत को सोमवार को देश का पहला सीडीएस नामित किया गया था.

आदेश के अनुसार नए विभाग के पास थल सेना (Army), नौसेना (Navy) और वायु सेना (Airforce) से संबंधित कार्य होंगे. इसके अलावा मौजूदा नियमों और प्रक्रियाओं के अनुसार पूंजीगत खरीद को छोड़कर सेवाओं के लिए विशिष्ट खरीद की भी जिम्मेदारी नए विभाग के पास होगी.

यह काम करेगा विभाग
केंद्र की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि विभाग संयुक्त और थिएटर कमानों की स्थापना सहित संचालन में सहयोग के जरिये संसाधनों के अधिकतम उपयोग के लिए सैन्य कमांड के पुनर्गठन की सुविधा सुनिश्चित करेगा. इसके अलावा यह संयुक्त योजनाओं और आवश्यकताओं के एकीकरण के जरिये सैन्य सेवाओं में खरीद, प्रशिक्षण व स्टाफ की नियुक्ति की प्रक्रिया में समन्वय लाएगा. विभाग सेना में स्वदेश निर्मित उपकरणों के इस्तेमाल को बढ़ावा देगा.



राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद हुआ गठन
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने भारत सरकार (कामकाज का आवंटन) नियमावली, 1961 में बदलाव को मंजूरी दे दी. इसके बाद विभाग का गठन किया गया. इस परिवर्तन के बाद रक्षा मंत्रालय के अधीन अब पांच विभाग होंगे. इनमें रक्षा विभाग, सैन्य मामलों के विभाग, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा अनुसंधान व विकास विभाग और भूतपूर्व सैनिक कल्याण विभाग शामिल हैं.

सैन्य मामलों के विभाग में रक्षा मंत्रालय का एक एकीकृत मुख्यालय होगा. इसमें थल सेना मुख्यालय, नौसेना मुख्यालय, वायुसेना मुख्यालय, डिफेंस स्टाफ मुख्यालय और प्रादेशिक सेना शामिल होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 24 दिसंबर को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के पद के सृजन को मंजूरी दी थी.

ये भी पढ़ें-
चीन को डोकलाम में उसकी हद बता चुके हैं नए जनरल मनोज मुकुंद नरवणे

कांग्रेस ने किया CDS की नियुक्ति का विरोध, कहा- गलत कदम उठा रही सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 31, 2019, 4:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर