लाइव टीवी
Elec-widget

प्रदूषण पर सरकार ने संसद में दिया जवाब, कहा- उच्च स्तरीय टास्क फोर्स कर रही निगरानी

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 3:47 PM IST
प्रदूषण पर सरकार ने संसद में दिया जवाब, कहा- उच्च स्तरीय टास्क फोर्स कर रही निगरानी
दिल्ली-एनसीआर में बढ़ रहे प्रदूषण पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दिया जवाब.

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण (Pollution) पर काबू पाने के लिए हमने एक व्यापक हवाई योजना तैयार की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 3:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. संसद (Parliament) के शीतकालीन सत्र (Winter Session) के चौथे दिन दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में बढ़ रहे प्रदूषण (Pollution) पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने जवाब दिया. राज्यसभा (Rajya Sabha) में दिए अपने जवाब में उन्होंने बताया कि दिल्ली एनसीआर में वायु प्रदूषण (Air Pollution) को कम करने और नियंत्रित करने के लिए सरकार ने कई अहम कदम उठाए हैं. उन्होंने सदन को बताया कि प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है जो नियमित तौर पर प्रदूषण से जुड़ी समीक्षा बैठक करती है.

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण पर काबू पाने के लिए हमने एक व्यापक हवाई योजना तैयार की है. इसके लिए हमने एजेंसियों की पहचान की है जो प्रदूषण की रोकथाम के लिए आगे की कार्ययोजना पर काम करेंगी. केंद्र सरकार ने दिल्ली-एनसीआर के विभिन्न चरणों के प्रदूषण की रोकथाम के लिए बनाई गई योजना को मंजूरी दे दी है.

गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर में एक बार फिर लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया है. दो दिन हवा के कुछ ठीक रहने के बाद एक बार फिर प्रदूषण का स्तर बेहद खराब स्थिति में आ गया है. मौसम का पूर्वानुमान लगाने वाली संस्‍था स्काईमेट के अनुसार, दक्षिण हिमालय के क्षेत्र में बदल रहे मौसम के चलते हवा की रफ्तार राजधानी और आसपास के इलाकों में कम रहेगी, जिसके चलते प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ेगा.

इसे भी पढ़ें :- गंगा में प्रदूषण पर NGT सख्‍त, यूपी सरकार पर 10 तो टेनरीज पर 280 करोड़ का लगाया जुर्माना
Loading...

दिल्ली की बात की जाए तो आनंद विहार, बवाना और अशोक विहार के हाल सबसे ज्यादा खराब दिखे. अशोक विहार में जहां पीएम 2.5 का स्तर 410 पर पहुंच गया, वहीं बवाना में यह 405 दर्ज किया गया. अशोक विहार में यह 387 दर्ज किया गया. इसी के साथ आईटीओ, लोधी रोड, जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम, मंदिर मार्ग, जहांगीर पुरी में भी हालात खराब रहे.

इसे भी पढ़ें :- प्रदूषण का असर: संगम तट पर प्रवासी पक्षियों की संख्या में गिरावट, पर्यटक निराश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 3:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...