होम /न्यूज /राष्ट्र /गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत: कफ सिरप निर्माताओं पर एक्शन की तैयारी में केंद्र, जारी होगा शो-कॉज नोटिस

गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत: कफ सिरप निर्माताओं पर एक्शन की तैयारी में केंद्र, जारी होगा शो-कॉज नोटिस

मेडेन फार्मास्यूटिकल्स के निर्माताओं पर भारत सरकार सख्त कदम उठाने के तैयारी में है.  फोटो-न्यूज़18

मेडेन फार्मास्यूटिकल्स के निर्माताओं पर भारत सरकार सख्त कदम उठाने के तैयारी में है. फोटो-न्यूज़18

न्यूज़18 के सूत्रों के मुताबिक CDSCO ने सभी कारणों को ध्यान में रखते हुए शाम तक कंपनी को शो-कॉज नोटिस जारी कर सकता है. व ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

गाम्बिया में 66 बच्चों के मौत के लिए भारतीय सिरप कंपनी जिम्मेदार.
भारत सरकार ने इनके ठिकानों पर छापे मरवाकर जांच के दिए आदेश.
CDSCO भी निर्माताओं को शो-कॉज नोटिस देने के तैयारी में.

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा नई दिल्ली स्थित मेडेन फार्मास्यूटिकल्स द्वारा निर्मित कप और कोल्ड के चार सिरप पर एक चिकित्सा उत्पाद अलर्ट जारी किया गया है. न्यूज़18 को पता चला है कि केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) दवा बनाने वाली कंपनी को कारण बताओ नोटिस भेजने की तैयारी में है. 

न्यूज़18 के सूत्रों के मुताबिक, CDSCO ने सभी कारणों को ध्यान में रखते हुए कंपनी को शो-कॉज नोटिस जारी कर सकता है. वहीं, केंद्र सरकार भी WHO के इन दवाइयों पर चिंता जाहिर करने के बाद एक्शन मोड में आ गई है. सरकार के सूत्रों के मुताबिक, जांच के आदेश जारी कर दिए गए हैं. इन कंपनियों के ठिकानों पर छपा मारा गया है और वहां से सैंपल इकट्ठा कर लैब में जांच के लिए भेज दिया गया है. इन दवाओं ने विश्व स्तर पर भारतीय दवा बाजार की प्रतिष्ठा को प्रभावित किया है, जो (भारत) अब तक फार्मेसी के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध था.

WHO के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारत की इन दवाईयों को गाम्बिया में 66 बच्चों के मौत जिम्मेदार माना और इनको लेकर अलर्ट जारी किया था. उन्होंने बताया कि अभी तक इन दवाओं के वितरण का पता सिर्फ गाम्बिया में चला है. जबकि डब्ल्यूएचओ को संदेह है कि ऐसे उत्पादों को अन्य देशों में भी वितरित किया गया होगा. इसलिए, संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी सभी देशों को मरीजों को और नुकसान से बचाने के लिए इन उत्पादों का पता लगाने और प्रचलन से हटाने की सलाह देती है. उन्होंने पत्रकारों से कहा कि WHO भारतीय नियामकों और सिरप बनाने वाली कंपनी के साथ मिलकर मामले की जांच कर रहा है.

Tags: Government of India, Union health ministry, WHO

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें