मलेशिया से जाकिर नाईक का प्रत्यर्पण संभव, भारत ने फिर की मांग

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण को लेकर भारत सरकार ने एक बार फिर मलेशिया की सरकार से मांग की है.

News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 10:53 PM IST
मलेशिया से जाकिर नाईक का प्रत्यर्पण संभव, भारत ने फिर की मांग
भारत ने फिर से मलेशिया से जाकिर नाईक को भारत प्रत्यर्पित किए जाने की मांग की है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 10:53 PM IST
इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक पर भारत में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. जाकिर नाईक ने अभी मलेशिया में शरण ली हुई है. भारत सरकार ने ऐसे में मलेशिया की सरकार से जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण की औपचारिक मांग की है. विदेश मंत्रालय का कहना है कि भारत इस मामले को आगे भी मलेशिया के सामने उठाता रहेगा.

इससे पहले मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा था कि जाकिर नाईक को भारत में न्याय नहीं मिलेगा. मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने कहा कि मलेशिया के पास यह अधिकार है कि यदि नाईक के साथ न्यायसंगत व्यवहार होता नहीं दिख रहा है तो हम उसका प्रत्यर्पण नहीं करेंगे.



जाकिर नाईक ने कहा था भारत उसे व्यापक तौर पर फंसा रहा
जाकिर नाईक ने भी कुछ समय पहले कहा था कि भारत सरकार प्रवर्तन निदेशालय पर विवादित इस्लामिक उपदेशक के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किए जाने का दबाव बना रही है. उसने यह भी कहा था कि भारत सरकार उसे व्यापक तौर पर फंसाने की कोशिश कर रही है. उसने यह दावा भी किया था कि उसके खिलाफ न रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ है और न होगा. बता दें कि जाकिर नाईक ने 2016 में भारत छोड़ दिया था.

दिसंबर, 2016 में नाईक पर दर्ज हुआ था मनीलॉन्ड्रिंग का मुकदमा
भारत में ईडी ने जाकिर नाईक और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में चार्जशीट दायर कर दी है. इससे पहले ईडी ने जाकिर नाईक के खिलाफ 22 दिसंबर, 2016 में नाईक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था.

इससे पहले ईडी ने नाईक की 16.40 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली थी.
Loading...

ये भी पढ़ें- 20 साल बाद कश्मीर में आतंक फैलाने लौट आया है यह खतरनाक आतंकी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...