लाइव टीवी
Elec-widget

आपके डेटा की सुरक्षा के लिए सरकार उठा रही बड़े कदम, जल्द आ सकता है नया बिल

भाषा
Updated: November 21, 2019, 8:48 PM IST
आपके डेटा की सुरक्षा के लिए सरकार उठा रही बड़े कदम, जल्द आ सकता है नया बिल
सरकार नागरिकों की गोपनीयता की सुरक्षा के लिए व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक तैयार कर रही है

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री संजय धोत्रे (Sanjay Dhotre) ने बताया कि पेगासस के जरिये कुछ वॉट्सएप मोबाइल उपयोगकर्ताओं (Whatsapp Mobile Users) के उपकरणों को प्रभावित किए जाने के बारे में सूचना मिली है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार नागरिकों की गोपनीयता की सुरक्षा के लिए व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक (Personal Data Protection Bill) तैयार कर रही है. इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री संजय धोत्रे (Sanjay Dhotre) ने गुरुवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी. उनसे पेगासस (Pegasus) नामक इजराइली स्पाईवेयर (Israel Spyware) द्वारा देश के नागरिकों की निजता के कथित उल्लंघन के बारे में पूछा गया था. इस पर मंत्री ने बताया कि सरकार नागरिकों की गोपनीयता की सुरक्षा के लिए व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक तैयार कर रही है.

धोत्रे ने बताया कि पेगासस के जरिये कुछ वॉट्सएप मोबाइल उपयोगकर्ताओं (Whatsapp Mobile Users) के उपकरणों को प्रभावित किए जाने के बारे में सूचना मिली है. उन्होंने बताया कि वॉट्सएप के अनुसार, इस स्पाईवेयर का विकास इजराइल की कंपनी एनएसओ ग्रुप ने किया है.

दुनिया के 1400 लोगों पर हुआ था साइबर हमला
उन्होंने बताया कि पेगासस के माध्यम से विश्व भर के करीब 1400 उपयोगकर्ताओं के मोबाइल फोन तक पहुंचने का प्रयास किया गया है जिसमें भारत के 121 उपयोगकर्ता भी शामिल हैं.

धोत्रे ने बताया कि वॉट्सएप के अनुसार, अप्रैल और मई 2019 के दौरान, एनएसओ ग्रुप ने वॉट्सएप उपयोगकर्ताओं के मोबाइल उपकरणों पर मालवेयर भेजने के लिए वॉट्सएप वीडियो कॉलिंग सिस्टम का उपयोग किया. उन्होंने बताया कि भारतीय कंप्यूटर आपात प्रतिक्रिया दल (सर्ट-इन) ने 17 मई 2019 को एक जोखिम नोट प्रकाशित किया जिसमें वॉट्सएप में जोखिम को लेकर उपयोगकर्ताओं को उपायों की सलाह दी गई.

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री के अनुसार, 20 मई 2019 को वॉट्सएप ने सर्ट-इन को सूचित किया कि उसने एक कमजोरी का पता लगाया है जिससे कोई हमलावर मोबाइल उपकरणों में कोड डाल कर इसे कार्यान्वित कर सकता है. वॉट्सएप ने यह भी बताया कि इस कमजोरी को दूर कर दिया गया तथा इसका अब इस्तेमाल हमले के लिए नहीं किया जा सकता.

वॉट्सएप कर रहा है जांच
Loading...

धोत्रे ने बताया कि पांच सितंबर 2019 को वॉट्सएप ने सर्ट-इन को मई 2019 की घटना के संबंध में बताया गया कि इस हमले के पूर्ण प्रभाव को कभी भी नहीं जाना जा सकता तथा वॉट्सएप उपलब्ध सूचना की समीक्षा कर रहा है.

मंत्री ने बताया कि पेगासस द्वारा वॉट्सएप के जरिये भारतीय नागरिकों के मोबाइल उपकरणों को निशाना बनाने के बारे में 31 अक्टूबर 2019 को मीडिया में आई खबरों के आधार पर सर्ट-इन ने वॉट्सएप को एक नोटिस जारी किया है जिसमें उससे संबंधित ब्यौरे और जानकारी देने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें-
सांसद ने खुद को बताया 'खम्भे' का शिकार, तो लोकसभा अध्‍यक्ष ने दिया ये जवाब

प्रदूषण पर चर्चा: BJP सांसद की चिंता- फिल्मों में हवा पर गाने कैसे बनेंगे!

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 8:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com