लाइव टीवी

माल्या-नीरव जैसे भगौड़ो से देश को हुआ 18 हजार करोड़ का नुकसान, सरकार ने संसद में बताया

News18Hindi
Updated: December 4, 2019, 9:16 AM IST
माल्या-नीरव जैसे भगौड़ो से देश को हुआ 18 हजार करोड़ का नुकसान, सरकार ने संसद में बताया
नीरव मोदी और विजय माल्या

केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि मनी-लॉन्ड्रिंग एक्ट (Money laundering act) के तहत कुल 694 शिकायत दर्ज की गई थीं. स्पेशल कोर्ट में इन मामलों पर मुकदमा चल रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2019, 9:16 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में हो रहे घोटालों के बारे में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag Singh Thakur) ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में लिखित सूचना दी. आर्थिक अपराध की जानकारी देते हुए उन्होंने सदन को बताया है कि देश छोड़कर भागने वाले 51 लोगों ने 17,900 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है. बता दें कि शराब कारोबारी विजय माल्या और हीरा कारोबारी नीरव मोदी कई बैंकों से करोड़ों का लोन लेकर देश छोड़कर फरार हो गए हैं.

केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने राज्यसभा में बताया कि मनी-लॉन्ड्रिंग कानून के तहत कुल 13 लोगों को दोषी करार दिया गया है. इस कानून के तहत कुल 694 शिकायत दर्ज की गई थीं, स्पेशल कोर्ट में इस तरह के मामलों में मुकदमा चल रहा है.

अभी तक 13 लोगों को ठहराया गया दोषी
मंगलवार को राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने संसद में बताया कि अब तक 9 मामलों में 13 लोगों को पीएमएलए (PMLA) की स्पेशल कोर्ट ने दोषी ठहराया है. पीएमएलए को साल 2002 में लाया गया था और इसे 2005 से लागू किया गया, ताकि टैक्स चोरी और काले धन जैसे अपराधों को रोका सके. देश भर में 66 अदालतों को पीएमएलए विशेष अदालत के रूप में नॉमिनेट किया गया है.

फरार लोगों पर कारवाई जारी
ठाकुर ने कहा कि ईडी और सीबीआई के पास कोर्ट में इन मामलों के संबंध में आवेदन दायर किए और जांच या दूसरी कार्रवाई चल रही है. सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स डिपार्टमेंट ने भी 6 लोगों को आर्थिक अपराधी बताते हुए रिपोर्ट की है, ये लोग अवैध रूप से देश छोड़ गए हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने भगोड़े आर्थिक अपराधी अधिनियम, 2018 के तहत समक्ष अदालत में 10 व्यक्तियों के खिलाफ आवेदन दायर किये हैं.

ये भी पढ़ें : 5 राज्यों ने निर्भया फंड का 1 पैसा तक नहीं किया खर्च, संसद में पेश हुई रिपोर्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 8:21 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर