Home /News /nation /

Kisan Andolan: MSP पर गठित होने वाली समिति के लिए सरकार ने 5 किसान नेताओं के मांगे नाम

Kisan Andolan: MSP पर गठित होने वाली समिति के लिए सरकार ने 5 किसान नेताओं के मांगे नाम

MSP पर गठित होने वाली समिति के लिए सरकार ने मांगे 5 नाम. (File pic)

MSP पर गठित होने वाली समिति के लिए सरकार ने मांगे 5 नाम. (File pic)

किसान नेता दर्शनपाल ने कहा कि किसान संगठन (Farmers Organization) इस मामले में चार दिसंबर को होने वाली बैठक में फैसला लेंगे. यह कदम ऐसे समय में सामने आया है, जब एक दिन पहले ही संसद के दोनों सदन में तीन विवादास्पद कृषि कानूनों (Agricultural Laws) को रद्द करने के लिए विधेयक पारित किया गया है. किसान इन कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर पिछले एक साल से आंदोलनरत हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. पिछले साल किसानों (Farmers) के विरोध को भड़काने वाले तीन नए कृषि कानूनों (Agricultural Laws) को रद्द करने के लिए संसद (Parliament) द्वारा विधेयक को मंजूरी देने के एक दिन बाद अब केंद्र सरकार किसानों से जुड़े हर एक मुद्दे को खत्‍म करना चाहती है. केंद्र सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) और अन्य मुद्दों पर चर्चा के लिए समिति गठित करने को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा (Sanyukt Kisan Morcha) से पांच लोगों के नाम मांगे हैं.

    जम्‍हूरी किसान सभा के महासचिव कुलवंत सिंह ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, हमें समिति में शामिल किए जाने वाले पांच लोगों के नाम देने के संबंध में सरकार की ओर से संदेश मिला है. संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) की बुधवार को बैठक होगी जिसमें कृषि संघ के नेताओं और विशेषज्ञों वाले पांच लोगों के नाम तय किए जाएंगे. किसान नेता दर्शनपाल ने कहा कि किसान संगठन इस मामले में चार दिसंबर को होने वाली बैठक में फैसला लेंगे. यह कदम ऐसे समय में सामने आया है, जब एक दिन पहले ही संसद के दोनों सदन में तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए विधेयक पारित किया गया है. किसान इन कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर पिछले एक साल से आंदोलनरत हैं.

    किसान नेता दर्शन पाल ने जानकारी दी कि आज, केंद्र ने उस समिति के गठन के लिए संयुक्‍त किसान मोर्चा से पांच नाम मांगे हैं, जोकि फसलों के लिए एमएसपी के मुद्दे पर विचार-विमर्श करेगी. हमने अभी नामों को लेकर फैसला नहीं लिया है. हम इस बारे में चार दिसंबर को होने वाली हमारी बैठक में निर्णय लेंगे. मोर्चा ने मंगलवार को जारी एक बयान में यह स्पष्ट किया कि लंबित मांगों और किसान आंदोलन के भविष्य के कदमों पर निर्णय लेने के लिए होने वाली बैठक बुधवार के बजाय चार दिसंबर को होगी.

    इसे भी पढ़ें :- किसानों की ट्रैक्टर रैली टली, केंद्र को 4 दिसंबर तक की डेड लाइन, किसान नेता बोले- आगे का एक्शन जवाब के बाद

    सोमवार को पंजाब के किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने कहा था कि संयुक्त किसान मोर्चा ने आगे की कार्रवाई पर निर्णय लेने के लिए बुधवार को आपात बैठक बुलायी है. हालांकि, मोर्चा ने कहा, एसकेएम में शामिल सभी संगठन हालात का जायजा लेंगे और आंदोलन संबंधी आगामी कदमों के बारे में चार दिसंबर की बैठक में फैसला लेंगे, जैसा कि पहले उसने घोषणा की थी. एसकेएम इस बैठक की तारीख में अब कोई बदलाव नहीं होगा. एसकेएम ने कहा कि ये बैठक सिंघू बॉर्डर पर होगी.

    इसे भी पढ़ें :- Kisan Andolan : अभी खत्‍म नहीं होगा किसान आंदोलन, दिल्‍ली की सीमाओं पर डटे रहेंगे किसान…

    बयान में कहा गया कि हरियाणा के किसान संगठन लंबित मांगों और अन्य मुद्दों पर चर्चा के लिए बुधवार को बैठक करेंगे. किसान नेता और एसकेएम सदस्य अभिमन्यु कोहार ने बताया, संयुक्त किसान मोर्चा की कोई बैठक कल नहीं होगी. एसकेएम की चार दिसंबर को होने वाली बैठक में किसानों की सभी लंबित मांगों और केंद्र सरकार के रुख पर विस्तार से चर्चा की जाएगी. हम बैठक में भविष्य की रणनीति तय करेंगे और उसी के अनुसार घोषणा करेंगे.

    Tags: Agricultural Law, Farmer movement, Kisan Andolan, Minimum Support Price, New Agricultural Law

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर