लाइव टीवी

ममता हर मौके पर मुझे अपमानित कर रही हैं, इससे उनका ही कद छोटा होगा: धनखड़

भाषा
Updated: November 29, 2019, 10:01 PM IST
ममता हर मौके पर मुझे अपमानित कर रही हैं, इससे उनका ही कद छोटा होगा: धनखड़
प बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी के उनके अपमान की बात कही है (फाइल फोटो, PTI)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Governor Jagdeep Dhankhar) ने एक साक्षात्कार (Interview) में कहा कि ऐसा करने से ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ही कद "छोटा" होगा.

  • भाषा
  • Last Updated: November 29, 2019, 10:01 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Governor Jagdeep Dhankhar) ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) पर निशाना साधते हुए कहा कि वह हर मौके पर उनका अपमान कर रही हैं और उन्हें नियमित रूप से सरकारी फैसलों की जानकारी नहीं दी जा रही.

राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Governor Jagdeep Dhankhar) ने एक साक्षात्कार (Interview) में कहा कि इससे उनका ही कद "छोटा" होगा. उन्होंने कहा कि मैं उनका बहुत सम्मान करता हूं और उन्हें आत्ममंथन कर आगे का रास्ता तलाशना चाहिए.

राज्यपाल ने कहा था, संविधान दिवस के मौके पर हुआ 'प्रोटोकॉल का उल्लंघन'
राज्यपाल ने विधानसभा अध्यक्ष बीमान बोस पर आरोप लगाया कि उन्होंने 26 नवंबर को संविधान दिवस के मौके पर आयोजित विशेष सत्र के दौरान अन्य गणमान्य व्यक्तियों के बाद संबोधन के लिये उन्हें बुलाकर "प्रोटोकॉल का उल्लंघन" (Protocol violation) किया.

धनखड़ ने कहा, "क्या आपने भारत के किसी राज्य में कभी देखा है कि राज्यपाल को संबोधन के लिये पांचवें नंबर पर बुलाया जाए. मुझसे पहले पूर्व राज्यपाल (एम के नारायणन), लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष (मीरा कुमार- Meira Kumar) और चुनाव आयोग के पूर्व आयुक्त (एस वाई कुरैशी) को बुलाया गया."

उन्होंने कहा, "यह प्रोटोकॉल (Protocol) का घोर उल्लंघन है. इस अपमान से बहुत दुखी हूं. उस दिन के महत्व को ध्यान में रखते हुए मैं वहां पहुंचा... उनका आचरण काफी असंतोषजनक है."

'ममता बनर्जी ने एक बार भी सरकार के फैसलों के बारे में नहीं दी मुझे जानकारी'धनखड़ ने ममता बनर्जी पर हमले जारी रखते हुए कहा कि संवैधानिक प्रक्रिया (Constitutional Procedure) के तहत मुख्यमंत्री को सरकार के फैसलों के बारे में राज्यपाल को जानकारी देनी होती है, लेकिन बनर्जी ने एक बार भी ऐसा नहीं किया. उन्होंने कहा, "मुख्यमंत्री के तौर पर राज्यपाल को जानकारी देना उनका संवैधानिक कर्तव्य है."

राज्यपाल ने कहा, "बुलबुल चक्रवात (Bulbul Cyclone) के बाद मैंने उन्हें पत्र लिखकर जानकारी देने के लिये कहा. लेकिन सबसे दुर्भाग्यपूर्ण बात यह थी कि प्रधान गृह सचिव ने उन्हें इसके बारे में जानकारी दी. मैं इस तरह के आचरण पर आपत्ति जताता हूं. मुख्यमंत्री से मेरे संवाद का जवाब केवल उनके द्वारा ही दिया जाना चाहिये, किसी और के जरिये नहीं."

यह भी पढ़ें: GDP गिरने पर बोले मनमोहन- जागरूक नागरिक की तरह कह रहा हूं, स्थिति चिंताजनक है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 10:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर