Farm Bill: कृषि मंत्री तोमर बोले- MSP जारी रहेगा, लेकिन ये नए कानून का हिस्सा नहीं

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (PTI)
केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (PTI)

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) विपक्ष के पार्टियों के बीच भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है. तोमर ने कृषि विधेयकों को किसानों के हित में बताया. तोमर ने कहा कि इससे न्यूनतम समर्थन मूल्य ( Minimum Support Price) यानी एमएसपी पर कोई असर नहीं पड़ेगा. MSP जारी रहेगा, लेकिन ये नए कानून का हिस्सा नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 24, 2020, 9:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि विधेयकों (Farm Bills 2020) को लेकर कई राज्यों के किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. पंजाब और हरियाणा के किसान आज से तीन दिनों के रेल रोको आंदोलन पर हैं. पंजाब में कांग्रेस के साथ शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने तो कृषि विधेयकों को किसान विरोधी बताया है. इस बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) विपक्ष के पार्टियों के बीच भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है. तोमर ने कृषि विधेयकों को किसानों के हित में बताया. तोमर ने कहा कि इससे न्यूनतम समर्थन मूल्य ( Minimum Support Price) यानी एमएसपी पर कोई असर नहीं पड़ेगा. MSP जारी रहेगा, लेकिन ये नए कानून का हिस्सा नहीं है.

समाचार एजेंसी एएनआई से गुरुवार को बातचीत के दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसानों के हित में एक के बाद एक कई कदम उठाए गए. इन सबके बावजूद जब तक कानूनों में बदलाव नहीं होता, तब तक किसान के बारे में हम जो उन्नति का सोच रहे थे, वो संभव नहीं थी. इसलिए भारत सरकार ने दो अध्यादेश बनाए जिनको अब जारी कर दिया गया है.

कृषि बिल के विरोध में किसानों का आज से रेल रोको आंदोलन, कई ट्रेनें कैंसिल



तोमर ने कहा, 'कृषक उपज व्‍यापार और वाणिज्‍य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020 और दूसरा कृषक (सशक्‍तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्‍वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020. ये दोनों विधेयक निश्चित रूप से किसान को APMC की जंजीरों से आजाद करने वाले हैं.' उन्होंने आगे कहा कि हमारा जो एक्ट है वो किसान को मंडी के बाहर किसी भी स्थान से, किसी भी स्थान पर अपनी मर्जी के भाव पर अपना उत्पाद बेचने की स्वतंत्रता देता है.


राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं कैप्टन
नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, 'पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह बस राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि आखिर क्यों उनकी पार्टी ने APMC एक्ट खत्म करने की बात करते हुए अंतरराज्यीय व्यापार शुरू करने की पहल की थी. कांग्रेस सिर्फ किसानों को तथ्यहीन आधारों पर भड़का और बहका रही है.'

कांग्रेस ने खेती समझती है और न किसानी
कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए तोमर ने कहा कि कांग्रेस इस बिल को मौत का सौदा बता रही है. मैं कहूंगा कि कांग्रेस का नेतृत्व बौना हो गया है. कांग्रेस अब न खेती किसानी को समझती है और न ही किसी चीज को. कांग्रेस में जो लोग इसे समझते हैं, उनकी कोई सुनता नहीं है. मैं कांग्रेस से कहना चाहता हूं कि अगर आपको सवाल पूछना, विमर्श है तो बिल के प्रावधानों पर करें. कांग्रेस का कोई भी नेता चाहे वो केंद्र का हो या राज्य का हो, उसे पहले ये बोलना चाहिए कि हमने जो घोषणा अपने घोषणापत्र में की थी, अब हम उससे पलट रहे हैं तो मैं उनका बहस सुनने को तैयार हूं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज