लाइव टीवी

उज्ज्वला योजना के लिए 2020 तक का लक्ष्य तय, सरकार वॉट्सएप से पहुंचाएगी स्कीम

News18Hindi
Updated: May 28, 2019, 7:47 PM IST
उज्ज्वला योजना के लिए 2020 तक का लक्ष्य तय, सरकार वॉट्सएप से पहुंचाएगी स्कीम
फाइल फोटो.

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के विस्तार का नया लक्ष्य तैयार किया गया है और नियमों में कुछ बदलाव किए जा रहे हैं. खबर है कि इसके लिए कैबिनेट हरी झंडी दे चुकी है.

  • Share this:
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार उत्साहित है इसलिए और बड़े लक्ष्य को हासिल करने के लिए कैबिनेट इसके विस्तार के लिए हरी झंडी दे चुकी है. इस योजना में लाभान्वितों की संख्या बढ़ाने के लिए 2020 तक 8 करोड़ घरों का लक्ष्य तय किया गया है और विस्तार के लिए नियमों में ढील देते हुए अब सरकार 5 किलोग्राम के एलपीजी सिलेंडर का विकल्प भी इस योजना में शामिल कर रही है.

सीएनबीसी टीवी18 ने सूत्रों के हवाले से ये खबर जारी की है और कहा है कि कैबिनेट ने योजना के इस तरह के विस्तार को हरी झंडी दे दी है. ये भी बताया गया है कि पिछले दो महीनों में 1.05 लाख उपभोक्ताओं को 5 किलोग्राम के सिलेंडर का लाभ मिल चुका है. जबकि इन्हीं पिछले दो महीनों में ​1.40 लाख रीफिल भी हो चुके हैं.

वॉट्सएप से उज्ज्वला
योजना को और ज़्यादा लोगों तक आसानी से पहुंचाने के लिए सरकार ने इसे वॉट्सएप के ज़रिए प्रचारित करने का फैसला भी किया है. उज्ज्वला लाभान्वितों के लिए प्रति व्यक्ति एलपीजी उपभोग औसतन 4.32 सिलेंडर हुआ है जबकि राष्ट्रीय औसत 7 है.

क्या है उज्जवला योजना और विस्तार
लक्ष्य : 8 करोड़ परिवार
खर्च : 12,800 करोड़
Loading...

गरीबी रेखा के नीचे के परिवारों को एलपीजी कनेक्शन
1 मई 2016 को हुई थी शुरूआत
सरकार प्रति कनेक्शन 1600 रुपये की मदद देती है
लाभार्थी : सामाजिक-आर्थिक जातीय जनगणना यानी एसईसीसी के अंतर्गत चि​ह्नित बीपीएल परिवार
इसके साथ ही, अनुसूचित जाति/जनजाति, अंत्योदय अन्न योजना के लाभार्थी, वनक्षेत्र निवासी, द्वीप/नदीय द्वीप निवासी, चाय बागान में काम करने वाले या पहले काम कर चुके लोग भी इस योजना के लाभार्थी हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

ये भी पढ़ें:
जुलाई से सस्ता AC बेचेगी मोदी सरकार! ऑनलाइन करें बुक, 24 घंटे में होगी डिलिवरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 28, 2019, 7:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...