ग्रेटर नोएडा में डपिंग ग्राउंड के विरोध में उतरे किसान, 15 दिन से धरने पर बैठे सैकड़ों लोग

डंपिंग ग्राउंड के खिलाफ धरने पर किसानों का मानना है कि इससे न सिर्फ वातावरण में प्रदूषण बढ़ेगा बल्कि नई बीमारियां भी होंगी
डंपिंग ग्राउंड के खिलाफ धरने पर किसानों का मानना है कि इससे न सिर्फ वातावरण में प्रदूषण बढ़ेगा बल्कि नई बीमारियां भी होंगी

दनकौर नगर पंचायत के यहां डंपिंग ग्राउंड (Dumping Ground) बनाने के खिलाफ धरने पर बैठे किसानों का मानना है कि इससे उनका जीना मुश्किल हो जाएगा. न सिर्फ इससे आस-पास का वातावरण प्रदूषित होगा और यहां की आवो-हवा खराब होगी बल्कि लोगों के बीच नई-नई बीमारियां भी पनपेंगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 7:13 PM IST
  • Share this:
ग्रेटर नोएडा. नोएडावासियों की मुसीबत अब चलकर ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के किसानों पर जा अटकी है, और अभी तक इस समस्या का कोई समाधान नहीं निकला है. दनकौर नगर पंचायत द्वारा बनाए जा रहे डंपिंग ग्राउंड (Dumping Ground) का यहां के किसान विरोध कर रहे हैं. पिछले 15 दिनों से वो इसके खिलाफ धरने पर बैठे हुए हैं मगर कोई उनकी सुन नहीं रहा है. किसानों का आरोप है कि इससे बेवजह कई एकड़ जमीन घिरेगी साथ ही कई बीमारियों को भी न्योता देने का काम किया जा रहा है.

दनकौर नगर पंचायत अपने इलाके में एक डंपिंग ग्राउंड (कचरा प्रबंधन प्लांट) बनवा रहा है जिसके कि यहां के लोग सख्त खिलाफ हैं. उनका मानना है कि अगर यहां डंपिंग ग्राउंड बना तो उनका जीना मुश्किल हो जाएगा. न सिर्फ इससे आस-पास का वातावरण प्रदूषित होगा और यहां की आवो-हवा खराब होगी बल्कि लोगों के बीच नई-नई बीमारियां भी पनपेंगी. इसका विरोध करते हुए किसान पिछले 15 दिनों से धरने पर हैं. इनमें से कुछ प्रदर्शनकारियों की हालत भी बिगड़ चुकी है मगर अभी तक कोई अधिकारी या दनकौर नगर पंचायत की तरफ से कोई इनका हाल-जानने पूछने तक नहीं आया है.





दरअसल ऐसी समस्या नोएडावासियों ने भी झेली थी लेकिन बाद में नोएडा प्राधिकरण ने इस समस्या को जायज माना. प्राधिकरण ने सीमेंट और अन्य कंपनियों के साथ मिलकर दो-तीन प्लांट लगाए हैं जिससे वेस्ट मैटेरियल और कूड़े का निस्तारण किया जाता है और उसे रिसाइकिल कर उपयोग में लिया जाता है. इससे नोएडावासियों को बहुत बड़े लेवल पर प्रदूषण का सामना करना पड़ता या इसकी वजह से नई-नई बीमारियां पनपती. मगर इस पर रोक लगने से नोएडावासी राहत की सांस ले रहे है, लेकिन अब यही समस्या ग्रेटर नोएडा के लोगों के सामने आ गई है जिसको लेकर वो प्रदर्शन कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज