अपना शहर चुनें

States

ग्रेटा थनबर्ग: लीडर्स पर लगाती हैं गंभीर आरोप, अब किसान आंदोलन में फंसी; विवादों से है पुराना नाता

दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग पर एफआईआर दर्ज की है. दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने सेक्शन 153A और 120B के तहत यह केस दर्ज किया है. (फाइल फोटो: Shutterstock)
दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग पर एफआईआर दर्ज की है. दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने सेक्शन 153A और 120B के तहत यह केस दर्ज किया है. (फाइल फोटो: Shutterstock)

Who is Greta Thunberg: 2019 में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने थनबर्ग की स्पीच को लेकर कहा कि वे ऑस्ट्रेलियाई बच्चों की 'गैरजरूरी चिंता' में डाल रहीं हैं. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी उनपर निशाना साधा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2021, 10:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 23 सितंबर 2019, दिन सोमवार को यूनाइटेड नेशन्स क्लाइमेट एक्सचेंज समिट (United Nations Climate Exchange Summit) का आयोजन हुआ था. इसमें 16 साल की ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने भी शिरकत की थी. इस कार्यक्रम में उन्होंने संयुक्त राष्ट्र समेत कई वैश्विक नेताओं पर उनके सपने छीनने के आरोप लगाए थे. अपने इस भाषण के बाद से ही थनबर्ग को दुनियाभर में जाना जाने लगा. अब उन्होंने भारत में जारी किसान आंदोलन (Farmers Protest) में भी मौजूदगी दर्ज कराई है. इस मुद्दे पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है. हालांकि, यह पहली बार नहीं है, जब थनबर्ग किसी विवाद का हिस्सा रहीं हों.

कम उम्र की पर्यावरण कार्यकर्ता अंतरराष्ट्रीय मंच से विश्व नेताओं के खिलाफ तल्ख टिप्पणी करने के लिए जानी जाती हैं. उन्होंने सितंबर 2019 में विश्व नेताओं पर उनका बचपन और सपने छीनने के आरोप लगाए थे. उनकी आलोचना झेलने वालों में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का नाम भी शामिल है. हालांकि, अमेरिका की वर्तमान उप राष्ट्रपति कमला हैरिस (Kamala Harris) और सीनेटर बर्नी सेंडर्स ने उनका समर्थन किया था, लेकिन कई बड़े नेताओं ने उनका खुलकर विरोध भी किया था.





कौन हैं ग्रेटा थनबर्ग
स्वीडन की रहने वाली ग्रेटा थनबर्ग का जन्म 3 जनवरी 2003 में हुआ था. उनकी मां मेलेना अर्नमैन एक ओपेरा गायिका और पिता स्वांते थनबर्ग एक एक्टर हैं. साल 2018 में उन्होंने 9वीं क्लास में ही सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर काम करना शुरू कर दिया था. उन्होंने पैरिस एग्रीमेंट के अनुसार, स्वीडिश सरकार से कार्बन उत्सर्जन कम करने की मांग की थी.

उन्होंने इसके लिए स्कूल स्ट्राइक का भी आयोजन किया था. उन्हें अपने प्रदर्शनों की बदौलत दुनिया के कई छात्रों का साथ मिला. उन्होंने 2019 में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में बोलने समेत ब्रिटेन, यूरोपियन और फ्रेंच संसदों को संबोधित भी किया है.

राष्ट्रपतियों ने लगाए ग्रेटा थनबर्ग पर साधा निशाना
2019 में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने थनबर्ग की स्पीच को लेकर कहा कि वे ऑस्ट्रेलियाई बच्चों की 'गैरजरूरी चिंता' में डाल रहीं हैं. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी उनपर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि अगर बच्चे पर्यावरण के मुद्दों पर ध्यान दे रहे हैं, तो उनका समर्थन करना चाहिए, लेकिन अगर कोई बच्चों का इस्तेमाल निजी फायदे के लिए करें, तो उसकी निंदा होनी चाहिए. उनके अलावा ट्रंप और ब्राजील के राष्ट्रपति जैर बोलसोनारो ने भी उन्हें स्पीच के लिए घेरा था.

यह भी पढ़ें: भड़काऊ ट्वीट के बाद दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग पर लिया एक्शन, दर्ज की FIR

नेताओं पर लगाए फायदे के लिए सेल्फी लेने के आरोप
बीते साल नन्ही पर्यावरण कार्यकर्ता ने विश्व नेताओं पर केवल 'अच्छा दिखने' के लिए सेल्फी लेने के आरोप लगाए थे. इस क्रम में उन्होंने जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल का नाम लिया था. हालांकि, उन्होंने कहा था कि इसमें और भी कई लीडर्स शामिल हैं. थनबर्ग ने कहा था कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राजा और रानियां, सभी उनसे मिलना चाहते हैं. उन्होंने कहा 'वे मुझे देखते हैं और अचानक मौका देखते हैं कि वे मेरे साथ अपने इंस्टाग्राम के लिए फोटो खिंचा सकें.'

अब किसान आंदोलन में भाग
ग्रेटा थनबर्ग ने अब किसान आंदोलन की बात की है. उन्होंने एक ट्वीट किया था, जिसमें कहा था कि सभी भारत के किसानों के प्रति एकजुट हैं. खास बात है कि इस दौरान दस्तावेज भी शेयर किया था. इसमें भारत सरकार पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दबाव बनाने की योजना लिखी हुई थी. इस योजना को पांच स्तरों पर भी बांटा गया था.

विवाद बढ़ता देख उन्होंने ट्वीट डिलीट कर दिया था. माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस इस मामले में थनबर्ग के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग पर एफआईआर दर्ज की है. दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने सेक्शन 153A और 120B के तहत यह केस दर्ज किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज