अपना शहर चुनें

States

ग्रेटा थनबर्ग टूलकिट मामले में पहली गिरफ्तारी, बेंगलुरु से पुलिस ने क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को पकड़ा

ग्रेटा थनबर्ग ने किसानों के समर्थन में किए गए अपने ट्वीट में भारत की सत्तारूढ़ पार्टी पर सवाल खड़े किए थे. (फाइल फोटो)
ग्रेटा थनबर्ग ने किसानों के समर्थन में किए गए अपने ट्वीट में भारत की सत्तारूढ़ पार्टी पर सवाल खड़े किए थे. (फाइल फोटो)

Farmers Protest: ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने एक टूलकिट (दस्तावेज) को ट्वीट किया था, जिसमें कथित रूप से किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को लेकर मोदी सरकार को घेरने और भारत को बदनाम करने की साजिश रची गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2021, 6:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. किसान आंदोलन (Kisan Andolan) को लेकर भारत को कथित रूप से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर घेरने के लिए बनाई गई रणनीति का खुलासा होने के बाद से बवाल मचा हुआ है. दरअसल क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg)  ने एक टूलकिट (दस्तावेज) को ट्वीट किया था,  जिसमें कथित रूप से किसान आंदोलन को लेकर मोदी सरकार को घेरने और भारत को बदनाम करने की साजिश रची गई थी. इसी मामले में अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की साइबर यूनिट ने बेंगलुरु से 21 साल की क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को गिरफ्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक, दिशा रवि को आज दिल्ली की कोर्ट में पेश किया जाएगा. दिशा पर आरोप है कि उन्होंने 26 जनवरी को हुई ट्रैक्टर रैली को लेकर साइबर स्ट्राइक के लिए बनाई गई टूलकिट को एडिट किया था, उसमें कुछ चीज़ें जोड़ी और उसके आगे सर्कुलेट किया था. पुलिस ने बताया कि इस मामले में कुछ और नाम आए रडार पर हैं और जल्द ही कई अन्य लोगों की गिरफ्तारी होगी.





फ्राइडे फ़ॉर फ्यूचर कैंपेन की फाउंडर्स में दिशा रवि भी एक सदस्‍य हैं. दिल्ली पुलिस ने 4 फरवरी को ग्रेटा द्वारा शेयर इस टूलकिट को लेकर केस दर्ज किया था. टूल किट मामले में हुई यह पहली गिरफ्तारी है. दिशा ने माउंट कैर्मेल कॉलेज से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में स्नातक की डिग्री हासिल की है. सूत्रों के मुताबिक दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने जब उन्‍हें गिरफ्तार किया, उस वक्‍त वह घर से ही काम कर रही थीं.

दिशा रवि के पिता मैसूरु में एक एथलेटिक्स कोच हैं, जबकि मां एक गृहिणी हैं. बता दें कि दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने 4 फरवरी को भारतीय दंड संहिता के सेक्शन 124A, 120A और 153 A के तहत बदनाम करने, आपराधिक साजिश रचने और नफरत को बढ़ावा देने के आरोपों में एफआईआर दर्ज की थी.

इसे भी पढ़ें :- Greta Thunberg मामला: दिल्ली पुलिस ने बताया FIR का 'सच', Toolkit के खिलाफ होगी जांच

पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के बाद ग्रेटा थनबर्ग ने एक बार फिर किसानों के समर्थन में ट्वीट किया था. उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'मैं किसानों के शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के साथ हूं. कोई भी नफरत, धमकी इसे बदल नहीं सकती.' बता दें कि ग्रेटा थनबर्ग ने किसानों के प्रदर्शन के समर्थन में ट्वीट किया था. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा था, 'हम भारत में किसानों के आंदोलन के प्रति एकजुट हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज