लाइव टीवी

जीएसटी लागू करने को लेकर नेशनल कॉन्फ्रेंस ने जम्मू-कश्मीर सरकार को दी चेतावनी

भाषा
Updated: July 2, 2017, 11:10 PM IST
जीएसटी लागू करने को लेकर नेशनल कॉन्फ्रेंस ने जम्मू-कश्मीर सरकार को दी चेतावनी
जम्मू-कश्मीर की विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस ने राज्य सरकार को चेतावनी दी है कि अगर वो जीएसटी राज्य में लागू करती है तो गंभीर परिणामों का सामना करना पड़ सकता है.

जम्मू-कश्मीर की विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस ने राज्य सरकार को चेतावनी दी है कि अगर वो जीएसटी राज्य में लागू करती है तो गंभीर परिणामों का सामना करना पड़ सकता है.

  • Share this:
जम्मू-कश्मीर की विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस ने राज्य सरकार को चेतावनी दी है कि अगर वो माल एवं सेवा कर, जीएसटी राज्य में लागू करती है तो गंभीर परिणामों का सामना करना पड़ सकता है.

पार्टी ने कहा है कि वो नई कर व्यवस्था को तब तक स्वीकार नहीं करेगी जब तक इसमें सुरक्षा के उचित उपायों को शामिल नहीं कर दिया जाता.

वरिष्ठ नेता अब्दुल रहीम राठेर ने कहा, 'इस पर हमारा कहना है कि जब तक हमें इसके लिए संवैधानिक, प्रशासनिक और आर्थिक संरक्षण नहीं मिल जाता है तब तक नेशनल कॉन्फ्रेंस जीएसटी स्वीकार नहीं करेगी. सरकार को मौजूदा रूप में जीएसटी को लागू नहीं करना चाहिए. अगर वो तब भी इसे लागू करती है तो उन्हें गंभीर परिणामों का सामना करना पड़ेगा.'

राठेर अपनी पार्टी के राज्य प्रवक्ता जुनैद मट्टू के साथ संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जम्मू-कश्मीर सरकार को आश्वस्त किया था कि वो संविधान में अनुच्छेद 370 के तहत राज्य के विशेष दर्जे़ का सम्मान करते हुए जीएसटी को लागू करने के लिए सभी संभव मदद करेंगे.

मट्टू ने कहा कि पार्टी अनुच्छेद 370 के तहत राज्य को मिले विशेष दर्जे़ की रक्षा करेगी. उन्होंने कहा, 'हम लोग इसकी रक्षा के लिए सब कुछ करेंगे. अगर सरकार जीएसटी को लागू करने के लिए ज़ोर देगी तो हम लोग लड़ाई के लिए अलग रास्ता तलाश करेंगे.'

राठेर ने राज्य के वित्त मंत्री हसीब द्राबू के जीएसटी के विधानसभा में 6 जुलाई को पारित होने की संभावना जताए जाने पर भी निशाना साधा और कहा कि अगर सरकार अपना मन बना चुकी है तो फिर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का मज़ाक क्यों कर रही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Srinagar से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 2, 2017, 11:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर