Home /News /nation /

gujarat 24 pakistan hindu refugees get indian citizenship in rajkot rsr

गुजरात में लंबे समय से रह रहे 24 पाकिस्तानी हिंदुओं को मिली भारतीय नागरिकता

पाकिस्तानी हिंदू को भारतीय नागरिकता का प्रमाण पत्र सौंपते गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी.

पाकिस्तानी हिंदू को भारतीय नागरिकता का प्रमाण पत्र सौंपते गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी.

Gujarat Pakistan Hindu: केंद्र सरकार ने नागरिकता अधिनियम में संशोधन किया है जिसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए हिंदू सहित धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए भारतीय नगारिक प्राप्त करने की प्रक्रिया आसान बनाई गई है.

राजकोट. गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने शुक्रवार को उन 24 पाकिस्तानी हिंदुओं को नागरिकता प्रमाण पत्र सौंपा, जो राजकोट में लंबे समय तक वीजा पर भारत में रह रहे थे और उन्होंने भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन किया था. सभी 24 लोगों को संबोधित करते हुए, संघवी ने कहा, ‘मैं इस बड़े देश के भाइयों और बहनों के रूप में आप सभी का स्वागत करता हूं… आशा है कि हम सभी की तरह, आप भी विकास के पथ पर शामिल होंगे और हम आप सभी से वादा करते हैं कि हम आप सभी के विकास और प्रगति के लिए समर्थन का विस्तार करेंगे.’

एक अधिकारी के बयान के मुताबिक, देश की आजादी के 75 साल पूरे होने का जश्न मनाया जा रहा है और इस अवसर पर राजकोट कलेक्ट्रेट में इन शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया. शरणार्थियों ने इस मौके पर सांघवी को धन्यवाद ज्ञापित किया.

भारतीय नागरिकता प्राप्त करने के बाद 22 वर्षीय पाकिस्तानी हिंदू केसरभाई संकल्पचंद ने इसे अपने जीवन का सबसे खुशी का क्षण बताते हुए कहा, ‘अब मैं अपना स्नातक पूरा करने और अपने देश भारत में अपने सपनों को पूरा करने में सक्षम होऊंगा.’ बुजुर्ग महिला वलभाई नामोड़ी ने बताया कि वह इस पल का वर्षों से इंतजार कर रही थी और अंतत: उनके संयम का फल मिला है. इस दौरान वह अपने आंसू रोक नहीं सकीं.

विमानन क्षेत्र में करियर बनाने के लिये पढ़ाई कर रही एक युवती केसरबेन शंकरचंद ने नागरिकता के लिए भारत सरकार को धन्यवाद दिया. शंकरचंद ने मंत्री से कहा, ‘मेरा परिवार गत 16 साल से भारतीय नागरिकता का इंतजार कर रहा था. हालांकि, मैं विमानन क्षेत्र के पाठ्यक्रम की पढ़ाई कर रही हूं, मुझे कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता था, क्योंकि मैं भारतीय नागरिक नहीं थी. अब मैं आधिकारिक रूप से भारतीय नागरिक बन गई हूं. मुझे भरोसा है कि मैं अपने सपनों को पूरा कर सकूंगी.’

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने नागरिकता अधिनियम के संशोधन किया है जिसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए हिंदू सहित धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए भारतीय नगारिक प्राप्त करने की प्रक्रिया आसान बनाई गई है.

(इनपुट भाषा से भी)

Tags: Gujarat, Hindu, Pakistan

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर