अहमदाबाद: श्रद्धालुओं के लिए खुला स्‍वामीनारायण मंदिर, 3000 kg सेब से लगेगा भगवान को भोग

श्री स्‍वामी नारायण मंदिर के कपाट आज से खुल गए हैं. (ANI)
श्री स्‍वामी नारायण मंदिर के कपाट आज से खुल गए हैं. (ANI)

Ahmedabad Shree Swaminarayan Temple re opened Today: स्वामी नारायण मंदिर में तीन हजार किलो सेब से मंदिर में सजावट की गयी है और उसे भोग में भी इस्तेमाल किया जाएगा. इसपर मंदिर के एक पुजारी ने कहा, 'पूजा के बाद, सेब को कोविड-19 रोगियों और स्वास्थ्य सेवा कर्मचारियों के बीच वितरित किया जाएगा.' आज लगभग साढ़े छह महीने के बाद मंदिर के द्वार श्रद्धालुओं के लिए खोले गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 4:43 PM IST
  • Share this:
अहमदाबाद. कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus epidemic) के बीच विश्‍व प्रसिद्ध श्री स्वामीनारायण मंदिर (Shree Swaminarayan Mandir) के कपाट मंगलवार से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं. इस बीच गुजरात के अहमदाबाद स्थित श्री स्‍वामीनारायण मंदिर में आज लगभग 3000 किलोग्राम सेब देखकर श्रद्धालु हैरान थे. भारी मात्रा में सेब को देखकर लोग अलग-अलग कयास लगा रहे थे. दरअसल, स्वामीनारायण मंदिर में तीन हजार किलो सेब से मंदिर में सजावट की गयी है और उसे भोग में भी इस्तेमाल किया जाएगा. इसपर मंदिर के एक पुजारी ने कहा, 'पूजा के बाद, सेब को कोविड-19 रोगियों और स्वास्थ्य सेवा कर्मचारियों के बीच वितरित किया जाएगा.' आज लगभग साढ़े छह महीने के बाद मंदिर के द्वार श्रद्धालुओं के लिए खोले गए.

बता दें कि श्री स्वामीनारायण मंदिर के द्वार आम श्रद्धालुओं के लिए नई शर्तों खोले गए. अब वही लोग मंदिर में जा सकेंगे जिन्‍होंने मास्‍क पहन रखी होगी. मास्‍क पहनना अनिवार्य किया गया है. इसके साथ ही अपने साथ सैनिटाइजर भी रखना होगा. नए प्रावधानों के तहत श्रद्धालुओं को सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियमों का भी सख्‍ती से पालन करना होगा. इसके अलावा एंट्री गेट पर थर्मल स्‍कैनिंग भी की जाएगी. कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ये सभी सुरक्षा उपाय अपनाए जाएंगे, ताकि सभी लोग संक्रमण से सुरक्षित रह सकें.


बदली गई है टाइमिंग
कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों के साथ ही श्री स्वामीनारायण मंदिर में प्रवेश की टाइमिंग भी बदली गई है. जानकारी के मुताबिक, श्रद्धालु शाम को 5:00 से 6:30 के बीच ही मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे. साढ़े छह बजे के बाद मंदिर परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी.



ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में मंदिर खोलने पर घमासान, राज्यपाल का उद्धव ठाकरे से सवाल- क्या अब सेक्युलर हो गए?

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर: भारत में ही बनेंगी मोबाइल और कार की बैटरी, सरकार खर्च करेगी 71,000 करोड़ रुपये

इसके अलावा देर शाम 8:15 बजे तक मंदिर को बंद कर दिया जाएगा. इसका मतलब यह हुआ कि निर्धारित समय में ही दर्शन कर बाहर निकलना होगा. हालांकि, झांकी, प्रदर्शनी और अभिषेक मंडप को फिलहाल बंद ही रखा जाएगा. श्रद्धालुओं के बीच लोकप्रिय वॉटर शो को सोशल डिस्‍टेंसिंग के साथ मंगलवार से ही शुरू किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज